ग्लोबल समिट में बोले पीएम मोदी, भारत दुनिया की सबसे ज्यादा डिजिटलाइज्ड इकोनॉमी बनेगा

नई दिल्ली (10 नवंबर): नोटबंदी के बाद केंद्र सरकार देश में कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने में शिद्दत से जुटी है। सरकार डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ाना देने के लिए लोगों को प्रत्साहित कर रही है और तरह-तरह की छूटें भी दे रही है। पीएम मोदी और केंद्र सरकार की इस कवायद पर भारी तादाद में लोग अमल भी कर रहे हैं। नोटबंदी के बाद से भारी तादाद में लोगों ई ट्रांजेक्शन के जरिए अपने जरूरत को पूरा कर रहे हैं।

वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट का उद्धाटन करते हुआ प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सरकार गुड गवर्नेंस और करप्शन फ्री इंडिया देने का वादा करती है। हम भारत को दुनिया की सबसे ज्यादा डिजिटलाइज्ड इकोनॉमी बनाएंगे।

पीएम मोदी की बड़ी बातें...

- ग्लोबल स्लोडाउन के बावजूद भारत ने बहुत बढ़िया ग्रोथ किया है

- भारत में सबसे ज्यादा निवेशक को रिटर्न मिले

- भारत को ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना है

- भारत दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल इकॉनमी बनने की कगार पर

- मिडल क्लास भारत का सबसे बड़ा बाजार

-  भारत अब एक उभरता हुआ आईटी हब है

- हम दुनिया को साइंटिस्ट और इंजीनियर देने वाले दूसरे सबसे बड़े देश हैं

- भारत दुनिया का छठा सबसे बड़ा मैन्युफैक्चरिंग कंट्री

- ग्लोबल वार्मिंग से लड़ने में भारत का बड़ा योगदान

- पिछले 2 साल में अब तक का सबसे ज्यादा निवेश आया है

- भारत में 80 करोड़ युवाओं की उम्र 35 साल

- भारत को कारोबार के लिए सबसे आसान देश बनाना है

- वर्ल्ड बैंक और आईएमएफ ने भारत की तरक्की को माना

- ग्लोबल इकोनॉमी में भारत एक चमकती हुई जगह है

- मेरी सरकार पूरी तरह से इंडियन इकोनॉमी में सुधार लाने के लिए कमिटेड है

- हमारा सबसे ज्यादा जोर भारत में कारोबार करने के हालात आसान बनाने का है

- भारत का व्यापार थ्रीडी में रहता है- डेमेग्राफी, डेमोक्रेसी और डिमांड

- हमने पिछले ढाई साल में देखा है कि लोकतांत्रिक ढांचे में भी तुरंत रिजल्ट देना संभव है

- भारत की युवाशक्ति दुनिया को एक ऐसी यूथ फोर्स मुहैया करवाती है, जिसकी तुलना नहीं की जा सकती है

- हमारे पास दुनिया के दूसरे सबसे ज्यादा अंग्रेजी बोलने वाले युवा हैं

- हमारी सरकार गुड गवर्नेंस और करप्शन फ्री इंडिया देने का वादा करती है। हमने इस दिशा में कई कदम उठाए हैं