#GujaratManthan: 22 साल के लड़के की नहीं विकास की CD देखना चाहती है जनता- हार्दिक पटेल

अहमदाबाद (2 दिसंबर): गुजरात चुनाव में अब कुछ ही दिन बचे हैं और तमाम पार्टियां जोरशोर से चुनाव प्रचार और वोटरों को रिझाने में जुटी है। इन सबके बीच न्यूज 24 ने जनता की मुद्दों को लेकर तमाम पार्टियों की राय और नीतियों को जाने के लिए गुजरात मंथन कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में गुजरात में आरक्षण आंदोलन के अगुवा और बीजेपी से नाराज चल रहे हार्दिक पटेल ने भी हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि देश में हिंदू नहीं हिंदू हिंदुस्तान की बात होनी चाहिए।

हार्दिक पटेल की बड़ी बातें... - देश में हिंदू नहीं हिन्दुस्तान की बात होनी चाहिए - यह मेरी जीत और हार का सवाल नहीं है। यह गुजरात की जनता की लड़ाई है। यह गुजरात के आने वाले भविष्‍य के लिए सही फैसला होगा - सुप्रीम कोर्ट निर्णय देती है, वह कानून नहीं बनाती - मैं किसी को हराने के लिए नहीं बल्कि गुजरात की जनता को जिताने के लड़ रहा हूं - गुजरात किसी बीजेपी को लिखकर नहीं दे दिया। जनता को जो सही दिखता है, वह वही करेगी।  - यहां पर 14 लड़कों को मार दिया गया और ऐसे तानाशाहों को हराना है - गुजरात को करने दो। गुजरात की जनता 22 साल के लड़के की सीढ़ी नहीं बल्कि 22 साल के विकास की सीढ़ी देखना चाहती है - गुजरात की जनता जो तय करेगी, वह गुजरात का सीएम होगा। ऐसा सीएम बनना चाहिए जो यहां के लोगों की जिम्मेवारियां उठा सकें - हमारे देश की जनता तय करेगी कि किस पार्टी ने अच्छा काम किया है, वह 2019 के लिए देश का पीएम तय करेगी - 18 तारीख के बाद मैं बताऊंगा कि कौन होगा गुजरात का सीएम - कॉलेज के कंपाउंड में बर्गर खाने से देश का सही हाल नहीं समझ पाऊंगा - मेरे 14 भाइयों की हत्या की थी। मैं अपने स्वार्थ के लिए पूरे समाज को ठोकर नहीं मार सकता। मैं कभी स्वाभिमान के साथ सौदा नहीं कर सकता - मेरे पास जेल में एक लेटर भेजा गया था, जिसमें मुझे 1200 करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया था - मैं कॉमन बनूंगा  - मैं अमित शाह से पूछना चाहूंगा कि क्या उन्होंने पटेल समाज के ऊपर लाठीचार्ज और गोली चलाने का आदेश दिया था या नहीं  - मुझे सचिन तेंदुलकर पसंद है, क्योंकि मैं उनकी तरह फुटवर्क का इस्तेमाल करता हूं - आज अगर मैं राजनीति में नहीं आता तो अच्छा क्रिकेटर होता