IPL-9: गुजरात को हराकर बेंगलोर फाइनल में

नई दिल्ली(25 मई): विश्व के दिग्गज बल्लेबाजों में शुमार अब्राहम डिविलियर्स की 47 गेंदों में नाबाद 79 रनों की शानदार पारी की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने मंगलवार को आईपीएल के नौवें संस्करण के पहले क्वालीफायर में गुजरात लायंस को चार विकेट से हराकर फाइनल में जगह बना ली। एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इस मैच में गुजरात ने बेंगलोर को 159 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे उसने खराब शुरुआत के बाद भी 18.2 ओवर में छह विकेट खोकर हासिल कर लिया।

बेंगलोर को फाइनल में पहुंचाने में डिविलियर्स ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कठिन समय में टीम को संभाला और नाबाद रहते हुए टीम को जीत दिलाई। डिविलियर्स ने अपनी पारी में पांच छक्के और इतने ही चौके लगाए। इकबाल अबदुल्ला ने 25 गेंदों में एक छक्के और तीन चौकों की मदद से 33 रनों की पारी खेलने के अलावा दूसरे छोर पर खड़े होकर डिविलियर्स का साथ देते हुए जीत में अहम भूमिका निभाई। दोनों ने सातवें विकेट के लिए 91 रनों की विजयी साझेदारी कर टीम को फाइनल का टिकट दिलवाया। डिविलियर्स के साथ ही अबदुल्ला भी नाबाद पवेलियन लौटे।

गुजरात की टीम ने ड्वायन स्मिथ की 41 गेंदों में 73 रनों की पारी की बदौलत 20 ओवर में अपने सारे विकेट गंवा कर 158 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करने उतरी बेंगलोर की शुरुआत खराब रही। धवल कुलकर्णी ने अपने चार ओवरों में एक मेडन ओवर के साथ 14 रन देकर चार विकेट लेकर बेंगलोर की बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी थी। बेंगलोर ने 29 रनों के स्कोर पर ही अपने पांच बल्लेबाज खो दिए थे। इस सत्र में शानदार फॉर्म में चल रहे कप्तान विराट कोहली बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। उनके बाद क्रिस गेल (9), के.एल.राहुल (0) शेन वाटसन (1) और सचिन बेबी (0) भी सस्ते में आउट होकर डग आउट में बैठ गए थे। धवल ने गेल, कोहली, राहुल और सचिन को पवेलियन भेज बेंगलोर को संकट में डाल दिया था।

गुजरात की पकड़ मैच पर मजबूत थी और लग रहा था कि वह आसानी से मैच जीत जाएगी, लेकिन डिविलियर्स मैदान पर मौजूद थे और वही गुजरात के लिए सबसे बड़ा खतरा साबित हुए। उन्होंने पहले स्टुअर्ट बिन्नी (21) के साथ छठवें विकेट के लिए 39 रनों की साझेदारी की। बिन्नी ने 15 गेंदों में एक छक्का और दो चौके लगाए। उन्होंने शादाब जकाती द्वारा फेंके गए नौवें ओवर में यह बाउंड्रियां लगाई। अगले ओवर में रविन्द्र जडेजा ने उन्हें पगबाधा आउट कर पवेलियन भेजा। बिन्नी जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 68 रन था।

लेकिन इसके बाद डिविलियर्स ने इकबाल अबदुल्ला के साथ पारी को आगे बढ़ाया और आईपीएल की सातवें विकेट के लिए दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी की। डिविलियर्स ने प्रवीण कुमार द्वारा फेंके गए 17वें ओवर में एक छक्का और एक चौका लगा कर जीत के अंतर को कम किया। अगले ओवर में अबदुल्ला ने लगातार तीन चौके लगाए। गुजरात के पास फाइनल में पहुंचने का एक और मौका है। उसे एलिमिनेटर मैच में भिड़ने वाली कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद की विजेता टीम से दूसरे क्वालीफायर में भिड़ना होगा। जो टीम उस मैच में जीत हासिल करेगी, वह बेंगलोर के साथ फाइनल खेलेगी।इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी गुजरात की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम ने नौ रनों के कुल स्कोर पर ही ब्रेंडन मैक्लम (1), एरॉन फिंच (4) और कप्तान सुरेश रैना (1) के विकेट गंवा दिए थे। अब्दुल्ला ने मैक्लम और फिंच को पवेलियन भेजा। वहीं, रैना, वाटसन की शॉर्ट गेंद पर लपके गए। इसके बाद स्मिथ और दिनेश कार्तिक (26) ने संभल कर खेलते हुए टीम को संकट से उबारा। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 85 रनों की साझेदारी कर टीम का स्कोर 94 तक पहुंचाया। स्मिथ एक छोर पर रन बनाते जा रहे थे तो कार्तिक दूसरे छोर पर संभल कर बल्लेबाजी कर रहे थे।

क्रिस जोर्डन ने कार्तिक को पवेलियन भेज इस साझेदारी को तोड़ा। इस साझेदारी के टूटने के बाद एक बार फिर बेंगलोर के गेंदबाज गुजरात के बल्लेबाजों पर हावी हो गए और लगातार विकेट चटकाने लगे। जडेजा (3) सस्ते में पेवलियन लौट गए। उनके बाद खतरनाक स्मिथ को चहल ने कोहली के हाथों कैच करा टीम को बड़ी सफलता दिलाई। स्मिथ जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 115 रन था। स्मिथ ने अपनी पारी में 41 गेंदों में पांच चौके और छह छक्के लगाए। गुजरात का आखिरी विकेट 20वें ओवर की आखिरी गेंद पर गिरा। बेंगलोर की तरफ से वाटसन ने सबसे ज्यादा चार विकेट लिए। अबदुल्ला और जोर्डन को दो-दो विकेट मिले। चहल एक विकेट लेने में कामयाब रहे। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ।