ढाई साल तक किसी भी पार्टी को जॉइन नहीं करूंगा: हार्दिक पटेल

नई दिल्ली(22 नवंबर): गुजरात चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस को हार्दिक पटेल के संगठन पाटीदार अनामत आंदोलन समिति का साथ मिल गया है। हार्दिक ने कहा कि विधानसभा चुनाव में उनकी लड़ाई बीजेपी से है, इसलिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर वह कांग्रेस का समर्थन करेंगे।

-  PAAS के संयोजक हार्दिक पटेल ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस ने हमारी सभी मांगों को स्वीकार कर लिया है। यदि कांग्रेस पार्टी सत्ता में आती है तो हमारी सभा मांगों को पूरा करने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमारी पटेल आरक्षण की मांग को मान लिया है। पार्टी का वादा है कि वह विधानसभा में गैर-आरक्षित समुदाय के लिए विधेयक पेश करेगी। 

- उन्होंने कहा, 'कई राज्यों में आरक्षण की सीमा को 49 फीसदी से अधिक किए जाने पर अदालत ने रोक लगाई है। ऐसे में किसी भी तरह की रोक से बचने के लिए कांग्रेस सरकार बनते ही विधेयक लाएगी। उन्होंने कहा कि आरक्षण की 49 फीसदी की सीमा को पार करना संभव है और ऐसा कई राज्यों में हुआ है।' हार्दिक पटेल ने दावा किया कि कांग्रेस ने पटेल समुदाय को ओबीसी की तर्ज पर आरक्षण देने में सहमति जताई है। पाटीदारों को अन्य पिछड़ा वर्ग की तरह लाभ मिलेंगे।

- हार्दिक ने कहा कि कांग्रेस सरकार पैनल बनाकर मंडल कमिशन की सिफारिशों के आधार पर सर्वे कराएगी और गैर-आरक्षित पिछड़े लोगों को इसके आधार पर लाभ दिया जाएगा। उन्होंने कहा, 'कांग्रेस और मैंने मिलकर समझौते का ड्राफ्ट तैयार किया है।' यही नहीं हार्दिक पटेल ने कांग्रेस और PAAS के बीच हुए समझौते को लेकर कहा कि इसमें किसी तरह की कानूनी अड़चन भी नहीं होगी। 

- हार्दिक पटेल ने कहा कि हमने कांग्रेस से कोई सीट नहीं मांगी, ऐसे में टिकटों को लेकर विवाद ही नहीं है। पटेल ने कहा कि मैं ढाई साल तक किसी भी पार्टी को जॉइन नहीं करूंगा। हमने किसी से भी कांग्रेस को वोट करने की अपील नहीं की है, लेकिन वे लोगों के लिए काम कर रहे हैं। ऐसे में हमने जनता पर ही फैसला छोड़ दिया है। 

- हार्दिक पटेल ने कहा कि बीजेपी ने हमेशा पाटीदार समाज के लोगों को प्रताड़ित किया है। मुझे कांग्रेस का एजेंट तक कहा गया। यह कहा गया कि मैं पैसे की डील करना चाहता हूं। लेकिन, ऐसा नहीं है पाटीदार समाज के अधिकारों के लिए लड़ना हमारा हक है। PAAS के लोगों को चुनाव लड़ने के लिए भी पैसे ऑफर किए गए, लेकिन हमने कुछ भी स्वीकार नहीं किया। बीजेपी ने वोट बांटने के लिए 200 करोड़ खर्च करके निर्दलीय उतारे। बीजेपी पाटीदारों का वोट बांटने की कोशिश कर रही है, लेकिन वह चुनावी जंग हार चुकी है। 

- हार्दिक पटेल ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वे दावा करते हैं कि हमारे शासन में शांति और विकास सुनिश्चित हुआ है। लेकिन, साबरमती रिवर फ्रंट के अलावा प्रदेश में कोई विकास नहीं दिखता है। हार्दिक ने कहा कि बीजेपी लोगों को पागल समझती है। हमारे कार्यक्रमों को रोकने की कोशिश की गई, पुलिस की ओर से धमकियां दी गईं।