गुजरात: ऊंची जाति का बताने पर दंबगों ने की दलित युवक की पिटाई

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 15 जून ): दलितों के साथ मारपीट का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। महाराष्ट्र के बाद अब गुजरात में दलित युवक की पिटाई का एक और मामला सामने आया है। पिटाई का आरोप सवर्ण युवकों पर है यह घटना 12 जून को अहमदाबाद के विट्ठलापुर गांव की है जहां अच्‍छे कपड़े व गले में चेन पहनने और खुद को राजपूत बताने पर दलित युवक की पिटाई कर दी गई।पीड़ित दलित युवक ने अपनी शिकायत में कहा है कि जब वह बस स्टॉप पर बैठा हुआ था तो कुछ युवक आये और उससे जाति पूछी। जब उसने बताया कि वह दलित है तो उन्होंने पूछा कि दलित होने के बावजूद उसने मोजड़ी कैसे पहनी हुई है। जब किशोर ने खुद को राजपूत बताकर अपना बचाव करना चाहा तो युवक उसे एक जगह ले गये और उसकी पिटाई की।गुजरात के मेहसाणा में जब एक युवक ने खुद को अगड़ी जाति के लोगों की मार से बचने के लिए राजपूत कह दिया तो दंबग गालियां देते हुए उस पर टूट पड़े। मेहसाणा जिले के बहुचाराजी कस्बे में हुई इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इस घटना का खुलासा हुआ है। घटना की शुरूआत तब हुई जब 14 जून को अहमदाबाद ग्रामीण जिले के विठलपुर गांव का एक 13 साल का लड़का बाल कटवाने के लिए बहुचराजी आया था।वह बस स्टॉप पर बैठा हुआ था। इस दौरान इस लड़के ने ‘मोजड़ी’ पहन रखी थी। बता दें कि मोजडी गुजरात और राजस्थान की अगड़ी जातियों द्वारा पहना जाने वाला एक किस्म का जूता है। यहां पर जब लोगों ने उसका परिचय पहुंचा तो उसने पहले तो खुद को दलित ही बताया। लेकिन लोगों के हाव-भाव को देखकर उसे कुछ शक हुआ। लोगों ने पूछा कि अगर वह दलित है तो उसने मोजडी कैसे पहनी हुई है। इसके बाद इस लड़के ने खुद को दरबारी बता दिया। इसके बाद चार लोगों ने उसकी कथित रूप से पिटाई शुरु कर दी। इस दौरान यह लड़का हाथ जोड़कर उनसे माफी मांगता रहा। लेकिन ये लोग उसकी सुनने को तैयार नहीं थे। इन लोगों ने डंडों और लात-धूसों इस लड़के को पीटा।