ऐसे बेहिसाब आमदनी की महेश शाह ने, 13 हजार करोड़ का कालाधन कबूल कर हुआ फरार

नई दिल्ली(3 दिसंबर): आईडीएस योजना के तहत 13 हजार करो़ड़ का बेहिसाब आमदनी का खुलासा करने वाले गुजरात के प्रॉपर्टी डीलर महेश शाह ज्यादा पढ़े लिखे नहीं हैं। उनके सीए तेहमूल सेठना का कहना है कि वे तीन कमरों के एक छोटे से फ्लैट में रहते हैं, लेकिन ऐशो-आराम की जिंदगी जीते हैं। 

- इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को शाह की चार्टर्ड अकाउंटेंट फर्म अप्पाजी अमीन के ठिकानों पर छापे मारे। बताया जा रहा है कि शाह फरार हैं। हालांकि, आईटी डिपार्टमेंट ने छापों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। 

- महेश शाह बहुत साधारण फ्लैट में रहते हैं। उनका घर अहमदाबाद के जोधपुर इलाके में है। वह खास पढ़े-लिखे भी नहीं हैं। 

- सीए तेहमूल सेठना भी शाह के कारोबार के बारे में ठीक-ठीक नहीं बता रहे। हालांकि, उन्होंने कहा कि शाह बेहद होशियार हैं। कई बड़े लोगों से उनके कॉन्टैक्ट हैं।

- सेठना ने यह भी बताया कि शाह जमीन के बड़े सौदे करते थे। गुजरात के अलावा महाराष्ट्र और दक्षिण भारत में भी उनका जमीन का कारोबार चलता था। 

- शाह के बेटे मोनीतेश शाह का कहना है कि करीब हफ्तेभर से पिता से उनकी बातचीत नहीं हुई है। 

- हालांकि, वे दावा करते हैं कि उनके पिता कहीं भागे नहीं हैं। काम से ही कहीं गए होंगे और जल्द वापस आकर सारी बातें साफ कर देंगे।

कौन हैं महेश शाह?

- महेश शाह हार्ट पेशेंट हैं, उनकी सर्जरी हो चुकी है। उनकी पत्नी, एक बेटा और एक बेटी है। 

- पत्नी को कैंसर है और वे बिस्तर पर हैं। बेटा बेरोजगार है, जो महेश शाह के साथ जोधपुर में ही रहता है। बेटी की शादी हो चुकी है जो प्रह्लादनगर में रहती है। 

- उनके सीए तेहमुल सेठना का कहना है, "वे टूर पर जाते हैं तो फाइव स्टार होटल में ठहरते हैं। लेकिन मेरे पास ऑटो रिक्शा से ही आते हैं।"

दूसरों का कैश अपना बताकर ब्लैकमनी का खुलासा किया

- सूत्रों के मुताबिक, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की जांच में पता चला है कि महेश शाह ने अहमदाबाद के कई नामी-गिरामी लोगों की तरफ से ब्लैकमनी डिक्लेयर की थी। 

- यह पूरा इंतजाम एक सीए ने किया, जिसका नाम अभी बताया नहीं गया है। 

- इनकम टैक्स विभाग अभी जांच कर रहा है। संभव है, जल्द ही इस कालेधन के असली मालिकों के नाम सामने आ जाएं।