गुजरात में हार के बाद हार्दिक पटेल को सता रहा है ये डर

नई दिल्ली ( 19 दिसंबर ): पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को गुजरात में हारने और बीजेपी के जीतने के बाद कानूनी कार्रवाई का डर सता रहा है। उनका कहना है कि गुजरात की बीजेपी सरकार उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की तैयारी कर रही है, लेकिन वह इससे डरेंगे नहीं और अपना आंदोलन जारी रखेंगे। विधानसभा चुनाव परिणाम आने के एक दिन बाद मंगलवार को हार्दिक ने ट्वीट करके यह आशंका जताई।

उन्होंने कहा, 'बीजेपी ने मुझ पर क़ानूनी कार्रवाई की तैयारी की है। कोई बात नहीं, कीजिए। मैं पीछे नहीं हटूंगा। जनता के लिए लड़ाई जारी रखूंगा। मुझे जेल में डालने से लड़ाई बंद नहीं होगी। इंकलाब के नारों से लड़ाई जारी है।' उन्होंने कहा, 'गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस एक सशक्त विपक्ष के रूप में उभरी है। हमें यह देखना होगा कि वे विपक्ष की भूमिका निभाते हुए किस तरह से लोगों की सेवा करते हैं।' 

भाजपा ने मुझ पर क़ानूनी कार्यवाही की तैयारी की हैं।कोई बात नहीं कीजिए मैं पीछे नहीं हटूँगा,लड़ाई जनता के लिए जारी रखूँगा,मुझे जेल में डालने से लड़ाई बंद नहीं होंगी इंक़लाब के नारों से लड़ाई जारी हैं। pic.twitter.com/oDeSZelKfy

— Hardik Patel (@HardikPatel_) December 19, 2017

ईवीएम पर हार्दिक ने कहा, 'चुनाव आयोग ने जो कुछ भी कहा है, वह संपूर्ण और अंतिम नहीं है। यदि एक उम्मीदवार कहता है कि उसे ईवीएम से दिक्कत है तो वीवीपैट की पर्ची की आवश्यक रूप से फिर से गिनती की जानी चाहिए।' 

हार्दिक नहीं हारा,बेरोज़गारी हारी है,शिक्षा की हार हुवी है,स्वास्थ्य की हार हुवी है,किसान की नमी आँख हारी हैं।आम लोगों से जुड़ा हर मुद्दा हारा है एक उम्मीद हारी हैं।सच कहु तो गुजरात की जनता हारी हैं EVM की गरबडी जीत गई हैं। pic.twitter.com/Do1J89Pcmh

— Hardik Patel (@HardikPatel_) December 18, 2017

बता दें, गुजरात के चुनावी महासमर में बीजेपी के हाथों पराजय से पाटीदार अनामत आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल बेहद दुखी हैं। निराश हार्दिक ने नतीजे आने के बाद मंगलवार को ट्वीट कर अपनी निराशा का इजहार किया। उन्होंने कहा, 'हार्दिक नहीं हारा। बेरोज़गारी हारी है। शिक्षा की हार हुई है। स्वास्थ्य की हार हुई है। किसान की नम आंखें हारी हैं। आम लोगों से जुड़ा हर मुद्दा हारा है और एक उम्मीद हारी है। सच कहूं तो गुजरात की जनता हारी है। EVM की गड़बड़ी जीत गई है।'