साधु के वेश में यूपी को दहला सकते हैं आतंकी, गोरखनाथ समेत तमाम मंदिरों की बढ़ाई गई सुरक्षा

नई दिल्ली ( 23 अप्रैल ): देश में तबाही फैलाने की साजिश में जुटे आइएस आतंकियों का एक समूह उत्तर प्रदेश में घुसपैठ करने के लिए प्रयासरत है। जो साधु-संतों के वेश में धार्मिक स्थलों परहमले करने की फिराक में है। इस इनपुट के बाद राज्य में हाई अलर्ट किया गया है।

वाराणसी, गोरखपुर, मथुरा व अयोध्या के प्रमुख धार्मिक स्थलों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आइजी सुरक्षा अशोक मुथा जैन के नेतृत्व में एक दल ने प्रमुख मंदिरों, संवेदनशील सार्वजनिक स्थलों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। कल मुथा अशोक जैन ने गोरखनाथ मंदिर परिसर का भ्रमण किया था। इसके बाद मंदिर के पदाधिकारियों के साथ वार्ता कर सुरक्षा से संबंधित विस्‍तृत जानकारी भी ली थी।


गोरखनाथ मंदिर में वर्तमान में 22 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। यदि जरूरत पड़ी तो और कैमरे लगाए जा सकते हैं। इसके साथ ही मंदिर के मुख्‍य द्वार पर वाच टावर से दो बंदूकधारी जवानों को सुरक्षा पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया है। इसके साथ ही पुलिस चौकी पहले से ही स्‍थापित है और अन्‍य पुलिसकर्मियों की भी संख्‍या बढ़ाई गई है। गोरखनाथ मंदिर के कार्यालय प्रबंधक द्वारिका तिवारी ने बताया कि आईजी सुरक्षा मुथा अशोक जैन, डीआईजी एन चौधरी, एसएसपी रामलाल वर्मा, एसपी सिटी हेमराज मीणा सहित जिले के अन्‍य आ‍लाधिकारियों ने आकर मंदिर परिसर का भ्रमण किया और सुरक्षा के इंतजाम देखे।


उन्‍होंने बताया कि जनता की बढ़ती हुई भीड़ को देखते हुए अलग से प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारी तैनात किए जाएंगे। इसके साथ ही मंदिर की सुरक्षा में भी अन्‍य अधिकारी और पुलिसकर्मी तैनात होंगे। उन्‍होंने बताया कि परिस्थितियों के बदलने के साथ ही मंदिर में फरियादियों की भीड़ भी बढ़ गई है। ऐसे में सुरक्षा का इंतजाम पुख्‍ता होना जरूरी है। इसीलिए मंदिर प्रशासन की ओर से सुरक्षा के इंतजाम के अलावा सरकार की तरफ से सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।