अवैध तरीके से भारतीयों को अमेरिका पहुंचाने वाली महिला को जेल

नई दिल्ली (23 अप्रैल): अमेरिका के एक कोर्ट ने ग्वाटेमेले की रहने वाली एक 36 वर्षीय महिला को तीन साल की जेल की सज़ा सुनाई है। इस महिला को अवैध तरीके से भारतीय लोगों को अमेरिका पहुंचाने के आरोप में सजा सुनाई गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, रोज़ा एस्ट्रिड उमनज़ोर लोपेज नाम की महिला को ग्वाटेमेले से अमेरिका प्रत्यर्पित कर दिया गया। उसे फेडरल कोर्ट ने होस्टन में दोषी पाया है। इसमें से एक आरोप अवैध प्रवासियों को तस्करी कर अमेरिका के दक्षिणी डिस्ट्रिक्ट टेक्सास पहुंचाने का भी है। इसके बदले कमाई करती थी। इस महिला को जेल से रिहा होने के बाद निर्वासित भी किया जा सकता है।

सुनवाई के दौरान लोपेज ने कहा कि जनवरी 2011 और 4 फरवरी 2014 को हुई उसकी गिरफ्तारी के बीच उसने और दूसरे षडयंत्रकारियों ने भारत में लोगों को रिक्रूट किया था। जो अमेरिका में तस्करी के जरिए पहुंचने के लिए बड़ी रकम देने को तैयार थे। इस मकसद के लिए लोपेज और उसके साथियों ने अवैध प्रवासियों के ट्रांसपोर्ट ग्रुप्स के नेटवर्क की मदद ली। इन्हें भारत से दक्षिणी अमेरिका के रास्ते सेंट्रल अमेरिका ले जाया जाना था।