GST से महंगी होगी उच्च और तकनीक शिक्षा

नई दिल्ली (1 जुलाई): 'वस्तु एवं सेवा कर' (जीएसटी) 1 जुलाई पूरे देश में लागू हो गया। जीएसटी के लागू होने के साथ वैट, सेवा कर और केंद्रीय उत्पाद शुल्क जैसे केंद्र और राज्यों के दर्जनभर से अधिक टैक्स खत्म हो गए हैं। जम्मू-कश्मीर को छोड़कर देशभर में समान कर प्रणाली लागू कर दी गई है। जीएसटी का अन्य क्षेत्रों के साथ-साथ उच्च व तकनीकी शिक्षा पर भी पड़ेगा। वर्तमान में उच्च शिक्षा पर लगने वाला टैक्स 15 फीसदी था जो जीएसटी में न्यूनतम 18 फीसदी हो जाएगा।


इसके बाद फीस पर होने वाले खर्च में आम लोगों को वर्तमान की अपेक्षा और ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ेगा। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रतिवर्ष छह से 21 हजार रुपये सालाना तक अतिरिक्त खर्च करने होंगे।