बढ़ी आम आदमी की परेशानी, GST से महंगी हुई दवाईयां

नई दिल्ली (24 नवंबर): गुड्स एंड सर्विस टैक्स यानी GST ने मरीज के साथ-साथ उनके परिजनों की भी मुश्किलें बढ़ा दी है। दरअसल GST लागू होने के बाद कई दवा कंपनियों ने दाम बढ़ा दिए हैं। GST लागू होने के बाद कुछ कंपनियों ने पहले मुनाफा कम किया लेकिन अब कंपनियों ने एमआरपी बढ़ाकर इसकी भरपाई करना शुरू कर दिया। दवाई कंपनियों दवाओं के दाम में 10 से 20 फीसदी तक इजाफा किया है।

GST में सरकार ने अगल-अगल कैटेगरी के तहत अलग-अलग टैक्स लगाया है। लाइफ सेविंग ड्रग पर 5, जनरल कैटेगरी पर 12, कॉस्मेटिक और डर्मेटोलॉजी रेंज पर 18 फीसदी GST लगाया है। जबकि प्रोटीन, न्यूट्रीशियन टेबलेट, सीरप और अन्य प्रोडक्ट पर सर्वाधिक 28 फीसदी जीएसटी लगाया है।