कंपनियों को अखबारों में छपवाने होंगे नए और पुराने रेट- राजस्व सचिव

नई दिल्ली (4 जुलाई): GST के लागू होने के बाद सरकार के लिए इसका फायदा आम लोगों तक पहुंचाने और महंगाई पर काबू रखने की चुनौती है। इसी पर निगरानी रखने के लिए पूरे देश में नोडल अधिकारी तैनात किए हैं, इसके लिए जिलों को 175 समूहों में वर्गीकृत किया गया है। राजस्व सचिव हसमुख अढिया के मुताबिक इसके तहत हर राज्य के लिए अलग टीम बनेगी। ग्राहकों को किसी तरह की समस्या नहीं होगी व कीमतों को लेकर सभी उद्योग सहयोग करें।


राजस्व सचिव हसमुख अढिया ने साफ किया है कि GST के लागू होने के बाद कंपनियों को अखबारों में विज्ञापन देकर के पुराने और नए रेट के बारे में बताना होगा, जिससे लोगों के मन में किसी प्रकार का दुविधा न हो। उन्होंने कहा कि सामान पर पुराना और नया MRP दिखाना जरूरी होगा। अगर व्यापारी के पास पुराना स्टॉक पड़ा हुआ है। MRP में सभी तरह के टैक्स शामिल होंगे।