GST पर नहीं चलेगी मुनाफाखोरी, कैबिनेट ने एंटी-प्रॉफिटियरिंग ऑथारिटी के गठन को दी मंजूरी

नई दिल्ली(16 नवंबर): जीएसटी में 200 से भी ज्यादा उत्पादों के रेट घटाने के बाद अब कैबिनेट ने जीएसटी एंटी प्रोफिटियरिंग ऑथारिटी के गठन को मंजूरी दे दी है। इससे मुनाफाखोरों पर श‍िकंजा कसेगा। इसके जरिये उन कारोबारियों के ख‍िलाफ कार्यवाही की जाएगी, जो इनपुट टैक्स क्रेडिट का फायदा ग्राहकों को तक नहीं पहुंचाते हैं।

क्या है इनपुट टैक्स क्रेडिट

जिन भी कारोबारियों को इनपुट टैक्स क्रेडिट मिलता है, उन्हें इसका फायदा अपने ग्राहकों को भी देना होता है। जब कोई कारोबारी कच्चा माल व अन्य सामग्री खरीदता है, तो उसे टैक्स भरना पड़ता है। यह इनपुट टैक्स होता है। जीएसटी के तहत इस सामग्री से कोई उत्पाद जब तैयार हो जाता है, तो कारोबारी को इनपुट टैक्स भरने की वजह से टैक्स भरते समय छूट मिलती है। यही इनपुट टैक्स क्रेडिट होता है।