लोगों को बड़ी राहत देने के मूड में सरकार, GST में 18% का स्लैब होगा खत्म!

Photo: Google 


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 दिसंबर): 
जीएसटी के सबसे अधिक 28 फीसदी स्लैब में अब सरकार ने कुछ ही आइटम को रखा है ताकि लोगों को महंगाई से राहत मिल सके। इसके साथ ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यह भी इशारा किया है कि भविष्‍य में 12% और 18% टैक्स की स्लैब को हटाकर नया स्लैब इसमें जोड़ा जा सकता है। इससे साफ होता है कि आगामी लोकसभा चुनावों से पहले मोदी सरकार देशवासियों को कुछ बड़ा तोहफा देने के मूड़ में है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फेसबुक (Facebook) पर एक ब्लॉग में लिखा, 'भविष्य के रोडमैप के रूप में 12% और 18% की दो स्टैंडर्ड रेट की जगह एक सिंगल स्टैंडर्ड रेट को लागू करने की दिशा में काम किया जा सकता है। नया रेट दोनों (पुराने रेट) के बीच का होगा।' उन्होंने कहा कि हालांकि इसमें थोड़ा समय लगेगा, जब टैक्स एक खास स्तर तक बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में जीएसटी का सिर्फ एक स्टैंडर्ड रेट होना चाहिए। ऐसे में जीएसटी का जीरो स्लैब, 5% का स्लैब और एक स्टैंडर्ड स्लैब होगा। सिर्फ विलासिता और व्यसन की वस्तुएं इसका अपवाद होंगी।

जेटली ने कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए कहा, 'जिन लोगों ने 31% अप्रत्यक्ष कर के साथ भारत का उत्पीड़न किया और लगातार जीएसटी को नजरअंदाज किया, उन्हें गंभीरतापूर्वक आत्मअवलोकन करना चाहिए।' इससे पहले जीएसटी काउंसिल ने आम आदमी के जरूरतों से जुड़े सामान पर GST की दर में भारी कटौती करने का फैसला किया था। इसके तहत सीमेंट और कुछ ऑटो पार्ट्स को छोड़कर 28% का स्लैब सिर्फ लक्जरी सामानों के लिए होगा। आम जरूरत की वस्तुओं पर 18% या उससे कम GST ही लगाई जाएगी। इसके तहत टायर, एसी और टीवी पर 18 प्रतिशत जीएसटी लगाया जाएगा। इसके अलावा धार्मिक पर्यटन के लिए फ्लाइट पर जीएसटी घटाया गया है और मूवी टिकट भी सस्ता किया गया।