Blog single photo

'आजाद' हुआ दूल्हा, बिना दहेज विदा हुई दुल्हन

ग्रेटर नोएडा के दादरी कस्बे में दहेज के मामले को लेकर सोमवार से चल रहे विवाद का आखिरकार अंत हो गया। बंधक बने दूल्हे को पंचायत के बाद मुक्त कर दिया गया और वह बिना दहेज के दुल्हन को लेकर अपने घर के लिए विदा हो गया।

नई दिल्ली(11 मई): ग्रेटर नोएडा के दादरी कस्बे में दहेज के मामले को लेकर सोमवार से चल रहे विवाद का आखिरकार अंत हो गया। बंधक बने दूल्हे को पंचायत के बाद मुक्त कर दिया गया और वह बिना दहेज के दुल्हन को लेकर अपने घर के लिए विदा हो गया।चार दिन से दोनों परिवारों में बढ़ी दूरियों को भी पंचायत ने खत्म करा दिया। दोनों पक्ष गले मिले और ससुराल जाने से इनकार कर रही दुल्हन भी हंसी-खुशी उसके साथ जाने को तैयार हो गई।दादरी के नई आबाद कस्बे में रहने वाली युवती की 7 मई को शादी थी। उसकी बारात मेवात स्थित नूंह के ढहाना गांव से आई थी। दूल्हा वसीम और युवती का कस्बा स्थित एक मदरसे में निकाह हुआ।विदाई के दौरान दूल्हा पक्ष ने दहेज में 60 हजार रुपये की डिमांड कर दी। दुल्हन पक्ष पहले ही 1.12 लाख रुपये दे चुका था। दुल्हन पक्ष ने 60 हजार की डिमांड पूरी करने से इनकार कर दिया, तो दूल्हे ने दुल्हन को साथ ले जाने से इनकार कर दिया।इस पर दुल्हन ने भी शादी जाने से इनकार कर दिया। बात बिगड़ी, तो दुल्हन पक्ष ने दूल्हे समेत 4 लोगों को बंधक बना लिया और मामला दादरी कोतवाली में पहुंच गया, लेकिन दोनों पक्षों ने पंचायत करके मामले को खत्म करने की बात की।दुल्हन पक्ष के घर में बंधक बने दूल्हे ने 8 मई को अपने गांव से कुछ लोगों को बुलाकर पंचायत कराने का आश्वासन दिया था, लेकिन मंगलवार को कोई नहीं आया। इसके बाद बुधवार को पंचायत होने की बात कही गई लेकिन दूल्हा पक्ष के पंचों ने फोन ही बंद कर लिया। इस तरह दूल्हा अपने तीन अन्य साथियों के साथ गुरुवार दोपहर तक दुल्हन के घर बंधक बना रहा।

Tags :

NEXT STORY
Top