''अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए आवश्यक कदमों की घोषणा करेगी सरकार''

नई दिल्ली ( 20 सितंबर ):  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर चर्चा हुई। इस बैठक में आर्थिक सुस्ती के बीच केंद्र सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए किए गाए कार्य और संभावित प्रोत्साहन पैकेज पर भी चर्चा की गई।

बैठक के बाद वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार अर्थव्‍यवस्‍था में  तेजी लाने के लिए अतिरिक्त कदम उठाने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा करने के बाद इस संबंध में घोषणा की जाएगी। उन्‍होंने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के लिए एक्‍साइज ड्यूटी में किसी प्रकार की कटौती से साफ इनकार किया है।

देश के आर्थिक विकास की रफ्तार चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में तीन साल के निचले स्तर 5.7 प्रतिशत पर आ गई है। जेटली स्थिति का जायजा लेने और वृद्धि तेज करने के उपाये पर विचार करने के लिए मंत्रालय के सहयोगियों एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पिछले कुछ दिनों में कई मुलाकातें कर चुके हैं।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, हमने अर्थव्यवस्था के सभी उपलब्ध संकेतकों का जायजा लिया है। सरकार हर आवश्यक कदम उठाएगी। मैं इस स्थिति में नहीं हूं कि यहां संवाददाता सम्मेलन में इसकी घोषणा कर सकूं। मैं निश्चित रूप से पहले प्रधानमंत्री मोदी के साथ सलाह मशविरा करूंगा और जब हम तय कर लेंगे, आपको भी पता चल जाएगा।

जेटली ने आगे कहा कि यह एक सक्रिय सरकार है और जब-जब परिस्थिति बनी है इसने आवश्यक कदम उठाया है। उन्होंने कहा, हम यथोचित कदम उठा रहे हैं। हम सुधार के एजेंडे पर निरंतर आगे बढ़ रहे हैं। वित्‍त मंत्री ने कहा, हमने सामने आ रहे सभी संकेतकों का जायजा लिया है। पिछले दो दिनों में मैंने अपने सहयोगियों, सचिवों और सरकार में शामिल विशेषज्ञों से कई बार बातचीत की है।