प्राइवेट इलेक्ट्रिक कारों पर सब्सिडी खत्म करने की तैयारी में सरकार, जानें वजह


न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 22 जून): केंद्र सरकार अब इलेक्ट्रिक कारों पर मिलने वाले नकद सब्सिडी को समाप्त करने की तैयारी कर रही है। जानकारों का कहना है कि सरकार के इस कदम से प्राइवेट इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री कम हो जाएगी। बता दें कि सरकार स्वच्छ ईंधन प्रौद्योगिकी को बढ़ाने के लिए अभी कुछ महीने पहले तक प्रोत्साहन दे रही थी।    

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ओला और ऊबर जैसे कैब आॅपरेटर्स को इलेक्ट्रिक वीइकल्स पर सरकार ने नकद सब्सिडी देने का फैसला किया है। उनका मानना है कि यह इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि ओला और ऊबर के वाहन प्राइवेट कारों से ज्यादा चलेंगे।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, प्राइवेट इलेक्ट्रिक कारों को मिलने नकद प्रोत्साहन को सरकार वापस लेना चाहती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे न तो इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री की सेल्स प्रमोट हो रही है और न ही स्वच्छ वातावरण का उद्देश्य पूरा हो रहा है।

बता दें कि अभी सरकार अपने क्लीन एनर्जी प्रोग्राम, FAME के तहत इलेक्ट्रिक कार की खरीद पर 1.3 लाख रुपये का डिस्काउंट आॅफर कर रही है। भारी उद्योग मंत्रालय द्वारा तैयार की जाने वाली FAME की फेज 2 ड्राफ्ट पॉलिसी में इसे खत्म किए जानें का प्रस्ताव है।