सरकार ने निकाला जाली नोट्स को रोकने का फार्मूला रास्ता, हर 3-4 साल में बदलेंगे नोट


नई दिल्ली (2 अप्रैल): जाली नोटों पर लगाम लगाने के लिए सरकार लगातार मंथन कर रही है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक जाली नोटों पर लगाम लगाने के लिए सरकार 500 और 2000 जैसे बड़े नोटों के फीचर्स में हर 3-4 साल में भारी बदलाब कर सकती है। बताया जा रहा है कि इस सिलसिले में पिछले गुरुवार को दिल्ली में एक उच्चस्तरीय बैठक में हुई। इस बैठक में केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि के अलावा वित्त और गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी मौजूद थे। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने इस कदम का समर्थन करते हुए कहा कि ज्यादातर विकसित देश अपने मुद्रा नोटों में सुरक्षा फीचर हर 3-4 साल में बदल देते हैं। भारत के लिए इस नीति का पालन करना अनिवार्य है। भारतीय नोटों के डिजाइन में बदलाव लंबे समय से लंबित है।


वर्ष 2000 में 1000 रुपये का नोट चलन में आया था और तब से लेकर नोटबंदी तक उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया। वहीं 1987 में 500 रुपये के नोट चलन में आया था और इसमें एक दशक पहले ही बदलाव किया गया था। अधिकारियों के अनुसार, नए मुद्रा नोटों में भी अतिरिक्त सुरक्षा फीचर नहीं हैं। हाल ही में पकड़े गए जाली नोटों में पाया गया है कि 17 सुरक्षा फीचर में से कम से कम 11 की नकल की गई है।