Blog single photo

बैंकों में फंसे कर्ज के समाधान के लिए पीयूष गोयल का बड़ा ऐलान

वित्त मंत्रालय संभाल रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बैंकिंग क्षेत्र में जारी संकट को दूर करने के दिशा में शुक्रवार को एक अहम ऐलान किया। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने फंसे कर्ज वाले खातों के समाधान के लिए संपत्ति पुनर्गठन कंपनी(एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी) के गठन के बारे में दो सप्ताह में सिफारिश देने को लेकर एक समिति गठित करने की घोषणा की।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 9 जून ): वित्त मंत्रालय संभाल रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बैंकिंग क्षेत्र में जारी संकट को दूर करने के दिशा में शुक्रवार को एक अहम ऐलान किया। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने फंसे कर्ज वाले खातों के समाधान के लिए संपत्ति पुनर्गठन कंपनी(एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी) के गठन के बारे में दो सप्ताह में सिफारिश देने को लेकर एक समिति गठित करने की घोषणा की।सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक के बाद पीयूष गोयल ने कहा कि सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के सभी 21 बैंकों के साथ मुस्तैदी के साथ खड़ी है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि पीएनबी के गैर-कार्यकारी चेयरमैन सुनील मेहता की अगुवाई वाली समिति दबाव वाले खातों के तेजी से समाधान के लिये संपत्ति पुनर्गठन कंपनी (एआरसी) या संपत्ति प्रबंधन कंपनी (एएमसी) के गठन के बारे में दो सप्ताह में सिफारिश देगी।वित्त मंत्री ने कहा कि दबाव वाली जिन संपत्तियों की पहचान की गई है, उनमें से ज्यादातर एआरसी या एएमसी ढांचे के लिए उपयुक्त हो सकती हैं। साथ ही बैंक तेजी से निर्णय लेने तथा दबाव वाले खातों के पारदर्शी और तेजी से समाधान को लेकर बाहरी विशेषज्ञों के साथ निगरानी समिति के गठन पर विचार करेंगे।गोयल ने कहा कि बैठक के दौरान चर्चा कर्ज प्रवाह तथा ऐसी व्यवस्था बनाने पर रही जिससे यह सुनिश्चित हो कि अच्छे कर्जदारों को कर्ज लेने में कोई कठिनाई नहीं हो। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के लिए जोखिम को कम करने की आवश्यकता है। सभी बैंकों ने दबाव वाले खातों के तेजी से निपटान को लेकर व्यवस्था बनाने की इच्छा जताई। वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि बैंकों में खाली पड़े सभी पदों को अगले 30 दिनों में भरा जाएगा।

Tags :

NEXT STORY
Top