News

50 फीसदी से ज्यादा खाली चलने वाली ट्रेनें जल्द हो सकती हैं बंद

नई दिल्ली (6 दिसंबर): 2018 में पेश होने वाले रेल बजट से पहले एक बड़ी खबर सामने आई है। रेल बजट के बाद यात्रियों का कई ऐसी ट्रेनों से नाता टूट सकता है, जो पूरी तरह से भरकर नहीं चलतीं। हालांकि, रेलवे अभी ऐसी ट्रेनों के लिए पैमाना तय कर रहा है और उसी आधार पर ट्रेनों की पहचान भी की जाएगा।

रेलवे को अब लगने लगा है कि जिन ट्रेनों में यात्रियों की तादाद बेहद कम होती है, उन्हें बंद कर दिया जाए या फिर किसी दूसरी ट्रेन में मर्ज किया जाए। अगर रेलवे बोर्ड के स्तर पर आखिरी फैसला किया जाता है तो इस आशय का ऐलान रेल बजट में या फिर उसके फौरन बाद किया जा सकता है। 

रेलवे सूत्रों का कहना है कि मंथन शुरू हो चुका है और जल्द ही फैसला लिया जा सकता है। हालांकि, इससे कितनी ट्रेनों पर असर पड़ेगा इसका आंकड़ा उपलब्ध नहीं है, लेकिन माना जा रहा है कि अगर 50 फीसदी खाली चलने वाली ट्रेनों का पैमाना तय किया गया तो भी बड़ी संख्या में ऐसी ट्रेनों को बंद किया जा सकता है।

रेलवे ने यह भी सोचा है कि ऐसी ट्रेनों को तभी बंद किया जाएगा जबकि वहां विकल्प के तौर पर अन्य ट्रेनें उपलब्ध हों। ऐसी स्थिति में कुछ ट्रेनों को दूसरी ट्रेन में मर्ज भी किया जा सकता है। मसलन, अगर एक ही रूट पर दो ट्रेनें पूरी क्षमता से यात्री लेकर नहीं चल रहीं तो उनके टाइम में बदलाव करके उन दो की जगह एक ही ट्रेन को चलाया जाए या फिर उसके मार्ग में कुछ फेरबदल किया जाए।   


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top