बैंक ही नहीं आपकी पॉकेट में कितना पैसा रहेगा, तय करेगी सरकार !

नई दिल्ली (18 नवंबर): 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को रद्द करने के फैसले के बाद अब सरकार कैश विद्ड्रॉल, ट्रांजैक्शंस और कोई अपने पास कितना पैसा रख सकता है, इसकी एक लिमिट तय कर सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह लिमिट कंपनियों के साथ-साथ आम लोगों पर भी लागू होगी।
हाल में कुछ सीनियर टैक्स अधिकारियों और एक्सपर्ट्स से ऐसे कदम के बारे में राय देने को कहा गया था। मामले की जानकारी रखने वाले दो लोगों ने बताया कि चूंकि इस मुद्दे पर सीनियर सरकारी अधिकारियों से राय मांगी जा रही है, लिहाजा इंडस्ट्री पर नजर रखने वालों का कहना है कि ऐसा कदम उठाया जा सकता है। इंडस्ट्री पर नजर रखने वालों का कहना है कि हो सकता है कि सरकार, एसआईटी के इस प्रस्ताव को लागू नहीं करे क्योंकि इससे कैश ट्रांजैक्शंस और कैश होल्डिंग्स की सीमा बदल जाएगी। 'डिमॉनेटाइजेशन और कैश विदड्रॉल पर पाबंदी बहुत सकारात्मक कदम है क्योंकि इससे पैरलल इकॉनमी खत्म हो जाएगी और ब्लैक मनी जेनरेट होने की गुंजाइश बेहद कम रह जाएगी।