राम नाइक के बयान पर गोविंदा ने की मोदी से दखल की मांग

मुंबई (3 अप्रैल): यूपी के राज्यपाल राम नाइक के फिल्म अभिनेता गोविंदा पर लगाए गए गंभीर आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने इन्हें पूरी तरह खारिज किया है। इस बॉलीवुड स्‍टार ने कहा कि नाइक ऐसे आरोप कैसे लगा सकते हैं, यह उन्हें शोभा नहीं देता।

गोविंदा ने कहा कि जिस वक्त नेम फेम होता है तरह तरह की शक्तियां जिन पर आपका कंट्रोल नहीं होता है, आप से आकर मिलती हैं। आपसे मिलकर निकल जाती हैं और किसी पार्टी के साक्षी हो जाती हैं। इसका मतलब ये नहीं कि आपका किसी से संबंध है। जो देश की न्याय व्यवस्था नहीं कह रही, पुलिस नहीं कह रही, वो राम नाइक जी कैसे कह सकते हैं। राज्यपाल के पद पर आसीन राम नाइक कैसे ऐसे आरोप लगा सकते हैं। क्या इसमें कोई साजिश है।

बॉलीवुड अभिनेता ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री से विनती करता हूं कि ऐसी बयानबाजी जो है उसमें कोई घातपात तो नहीं है। मैं प्रधानमंत्री जी से अपील करता हूं कि मुझे इस घातपात से बाहर निकालें, इस कष्ट से बाहर निकालें। मुझे इस बात का खेद नहीं है कि मुझे पद्मश्री नहीं मिला, पर मेरे ऊपर ऐसे तोहमत नही लगाएं।

राम नाइक ने कहा था:

इससे पहले राम नाइक ने कहा था कि 2004 में मेरी हार के पीछे सबसे बड़ी वजह अंडरवर्ल्ड और बिल्डर लॉबी थी। विधायक हिंतेद्र ठाकुर, डॉन दाऊद इब्राहिम और गोविंदा के संबंध सबको पता हैं। नतीजतन, चुनाव में दबे पांव दहशत फैलाना शुरू किया। आखिरी तीन चार दिनों में तो इनकी दहशत और बढ़ गई। मेरे लोकसभा क्षेत्र के सभी 6 विधानसभा सीटों में हमेशा मुझे बढ़त मिलती थी, लेकिन उस बार सिर्फ 2 सीटों पर ही हम आगे थे। मालवणी और वसई में इनकी दहशत की वजह से मैं पीछे रह गया। वोटों की गिनती के दिन मुझे ये अहसास होने लगा था कि कुछ गलत हो सकता है और हुआ भी वही।