ईज ऑफ डूइंग बिजनेसः: भारत को टॉप 50 में लाने के लिए 200 सुधार करेगी मोदी सरकार

नई दिल्ली ( 1 नवंबर ): वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में भारत ने पहली बार 100वें पायदान पर पहुंच एक नया मुकाम हासिल किया है, लेकिन सरकार का लक्ष्य अभी इससे बड़ा है। सरकार ने अगले कुछ वर्षो में इस रैंकिंग को 50वें स्थान पर पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि यह लक्ष्य संभव है।

मंगलवार को वर्ल्ड बैंक की ओर से जारी ईज ऑफ डूइंग बिजनस की रैंकिंग में भारत को 100वां स्थान मिला है, पिछले साल भारत 130वें नंबर पर था। डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल पॉलिसी ऐंड प्रमोशन (डीआईपीपी) के सचिव रमेश अभिषेक ने कहा कि सरकार ने 200 ऐसे सुधार चिह्नित किए हैं, जिनके जरिए भारत वर्ल्ड बैंक की टॉप 50 की लिस्ट में शामिल हो सकता है।

अभिषेक ने पत्रकारों से कहा, 'हमने इस साल पहले ही 122 सुधारों को लागू कर दिया है। इन्हें पहचान दिलाने के लिए हम वर्ल्ड बैंक के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इस साल ईज ऑफ डूइंग बिजनस के लिहाज से हम करीब 90 सुधारों को और लागू करेंगे।' बता दें कि दिवालियापन कानून, लाइसेंसिंग, टैक्सेशन में सुधार और निवेशकों को प्रॉटेक्शन जैसे कदम उठाने के चलते भारत की रैंकिंग में 30 पायदान का जोरदार उछाल हुआ है। भारत बेहतर करने वाले टॉप 10 देशों में शामिल है।