आपके स्मार्टफोन डाटा को सुरक्षित रखने के लिए नए नियम बनाएगी सरकार

नई दिल्ली ( 24 अगस्त ): स्मार्टफोन यूजर्स का निजी डाटा चोरी होने के मामले पर सरकार ने चिंता जताई है और कड़ा रुख अख्तियार किया है। इस मामले को लेकर सरकार जल्द ही मोबाइल निर्माता कंपनियों के लिए नए सिक्योरिटी और प्राइवेसी नियम जारी कर सकती है। साइबर सिक्योरिटी अगले कुछ हफ्तों में नए नियम पेश कर सकती है। इस नियमों को यूजर्स के निजी डाटा को सुरक्षित रखने के लिए बनाया जाएगा। खबरों के मुताबिक मोबाइल डिवाइस से निजी जानकारी चुराने का मामला बेहद गंभीर है और जल्द ही इसके लिए नई गाइडलाइन्स जारी की जाएंगी।

सरकार इस तथ्य को लेकर चिंतिंत है कि भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल जयादातर मोबाइल डिवाइसेस के जरिए ही किया जाता है। ऐसे में डिवाइसेस ऑनलाइन दुनिया के साथ कनेक्ट होने का एक मुख्य कारण है। सूत्र ने यह भी बताया कि डिजिटल ट्रांजैक्शन के बढ़ने के साथ हैकिंग और डाटा चुराने के मामलों में भी बढ़ोतरी हुई है। आपको बता दें कि देश में बिकने वाले ज्यादातर फोन्स चीनी कंपनियों द्वारा बनाए जाते हैं। सरकार को ऐसा लगता है कि इस तरह के मामले चीन और भारत के बीच परेशानी खड़ी कर सकते हैं और इससे यूजर्स का निजी डाटा लीक किया जा सकता है।

नए स्टैंडर्ड्स दो हाई-लेवल कमेटीज की सिफारिशों पर आधारित होंगी। इसमें एक कमेटी का नेतृत्व आईबीआई करेगी। तो दूसरी कमेटी का नेतृत्व डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (DoT) करेगी। ये आईटी अधिनियम के प्रावधानों में ही नए नियमों को जोड़ा जाएगा जो कि डाटा चोरी से सुरक्षा करता है।