विजय माल्या का पर्सनल जेट होगा नीलाम!

नई दिल्ली (15 मार्च): बैंक ही नहीं अब सरकार भी विजय माल्या के असेट्स को नीलाम करने की तैयारी कर रही है। इसमें उनका पर्सनल एयरबस एसीजे 319 जेट भी शामिल है। इसे बेचकर सरकार पेनल्टी और इंट्रेस्ट सहित 812 करोड़ रुपए का बकाया सर्विस टैक्स वसूल करने की तैयारी में है।   एयरबस के अलावा सरकार किंगफिशर एयरलाइंस के 5 छोटे एटीआर और 3 हैलीकॉप्टर्स भी बेचना चाहती है। किंगफिशर एयरलाइंस का कामकाज 2012 में बंद हो गया था और बैंकों को इस कंपनी से 9,000 करोड़ रुपए वसूलने हैं। सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट ने एयरक्राफ्ट को जब्त कर लिया है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज ऐड कस्टम्स (सीबीईसी) के ऑफिशिल ने बताया, 'हम जेट को नीलाम करने जा रहे हैं।' इसके लिए रिजर्व प्राइस एमएसटीसी लिमिटेड तय करेगी। यह सरकारी कंपनी है, जिसे ऑक्शन का एक्सपीरियंस है। अथॉरिटीज को नहीं लगता कि माल्या के पर्सनल जेट को बेचने में कोई दिक्कत होगी। इसे लीज पर लिया गया था और अब तक किसी ने इसके लिए अथॉरिटीज या कोर्ट से संपर्क नहीं किया है।   एक स्टैंडर्ड एयरबस ए319 का लिस्ट प्राइस 600 करोड़ रुपए होता है। सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट का जो 812 करोड़ रुपए बकाया है, उसमें से 32 करोड़ रुपए पैसेंजर्स से वसूले गए थे लेकिन उसे डिपार्टमेंट के पास जमा नहीं कराया गया था। पिछले साल टैक्स डिपार्टमेंट ने माल्या को गिरफ्तार करने की इजाजत मांगी थी लेकिन मुंबई मेट्रोपॉलिटन कोर्ट ने उसकी यह अपील खारिज कर दी थी। सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट ने कोर्ट से कहा था कि माल्या के देश से भागने का डर है। उसने अदालत से माल्या का पासपोर्ट जब्त करने का निर्देश देने की अपील भी की थी। 16 फरवरी 2015 के आदेश में मैजिस्ट्रेट ने माल्या को जरूरत पड़ने पर अदालत में पेश होने का आदेश दिया था।