जम्मू-कश्मीर में आम नागरिकों के लिए सरकार का बड़ा प्लान, बनेंगे 14000 बंकर

नई दिल्ली(5 अप्रैल): जम्मू-कश्मीर में आए दिन पाकिस्तान की ओर से होने वाली फायरिंग में यहां रहने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। पाकिस्तान की इसी फायरिंग में स्थानीय लोगों की मौत हो जाती है, तो कई लोग घायल हो जाते हैं। यहां के लोग चैन से रह सकें इसके लिए भारत ने एक नया रास्ता ढूंढ निकाला है।

- सरकार सीमा से लगे उन 5 जिलों के परिवारों के लिए 13,029 बंकर बनाएगी।

- बता दें कि ये बंकर सांबा, पुंछ, जम्मू, कठुआ और राजौरी में बनेंगे। इन जिलों में सरकार 1,431 अन्य बड़े कम्युनिटी बंकर भी बनाएगी, जिनमें से हर एक बंकर की क्षमता 40 लोगों को सुरक्षित ठिकाने मुहैया कराने की होगी।

- इन बंकरों का निर्माण नैशनल बिल्डिंग्स कंस्ट्रक्शन कोर्पोरेशन ( NBCC) द्वारा किया जाएगा। बंकरों के निर्माण कार्य उन इलाकों में किए जाएंगे, जो सीमा से 3 किलोमीटर के दायरे में आते हैं। 

- परिवार विशेष के लिए बनाए जाने वाले बंकर (छोटे बंकर) 160 वर्ग फीट के होंगे, ऐसा एक बंकर 8-10 लोगों का सुरक्षित ठिकाना बनेगा। बता दें कि साल 2017 में सीजफायर उल्लंघन के चलते सेना के 15 जवान और बीएसएफ के 4 जवान शहीद हुए थे, जबकि 12 आम नागरिकों ने अपनी जान गंवाई थी। इस साल सीजफायर उल्लंघन में 79 लोग घायल हुए थे। 

- बताया जा रहा है कि सांबा में 2,515 छोटे बंकर और 8 कम्युनिटी बंकर बनेंगे, जम्मू में 1200 छोटे बंकर और 120 कम्युनिटी बंकर बनेंगे। इसके अलावा राजौरी में 4,918 छोटे बंकर और 372 कम्युनिटी बंकर बनाए जाएंगे। 

- कठुआ में 3,076 छोटे बंकर बनेंगे, जबकि पुंछ में 1,320 छोटे बंकर और 688 कम्युनिटी बंकर बनेंगे।