मनरेगा मजदूरों के खाते को आधार से जोड़ने के लिए सरकार चलाएगी अभियान

नई दिल्ली(26 जुलाई): सरकार राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (नरेगा) से जुड़े सभी मजदूरों को आधार के दायरे में लाने के लिए अभियान शुरू कर रही है। इसका मकसद इस स्कीम के तहत गड़बड़ियों और ड्यूप्लिकेशन को रोकना है। 

- वित्त मंत्रालय के साथ सलाह कर ग्रामीण विकास मंत्रालय गांवों में कैंप लगाकर इससे लाभार्थियों से उनके बैंक खाते को आधार से लिंक करने के लिए उनकी सहमति मांगेगा।

- एक सीनियर अधिकारी ने बताया, 'आधार को लिंक करने से लाभार्थी के खाते में पैसा ट्रांसफर होने में गड़बड़ी को कम करने में मदद मिलेगी। बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन यह पक्का करता है कि पैसा सही व्यक्ति तक पहुंचे।' 

- ग्रामीण विकास मंत्रालय ने इस अभियान के लिए 13 बैंकों और इंडियन बैंक्स असोसिएशन को तैयार किया है। अब तक नरेगा के तहत 10.7 करोड़ मजदूरों में से 50 फीसदी ने आधार के साथ अपना बैंक अकाउंट लिंक कराया है। 

- ग्रामीण विकास मंत्रालय के एक और सीनियर अधिकारी ने बताया, 'हमने जहां 85 फीसदी वर्कर्स के लिए आधार सूचना इकट्ठा की थी, वहीं बैंक पहले इसकी सहमति चाहते हैं।'

-  देशभर में 25 जुलाई से 10 सितंबर के बीच ये कैंप आयोजित किए जाएंगे। कैंप के दौरान लाभार्थियों से सहमति फॉर्म हासिल करने के लिए सरकार ने बैंकों, नरेगा अधिकारियों से तय प्रक्रिया अपनाने को कहा है।