सरकार ने मानी बात- आधार से हो रहा बैंकों में फ्रॉड

नई दिल्ली(7 फरवरी): केंद्र सरकार ने मंगलवार को स्वीकार किया कि आधार नंबर का बेजा इस्तेमाल कर लोगों के बैंक खाते से धोखाधड़ी से रकम निकालने की घटनाएं हुई हैं। वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने मंगलवार को संसद में कहा कि मिली जानकारी के मुताबिक अब 4 सरकारी बैंकों में 6 ऐसे मामले सामने आए हैं, जिनमें 1.5 करोड़ रुपये तक का फ्रॉड हुआ है। 

- पब्लिक सेक्टर के बैंकों के डेटा के मुताबिक कस्टमर्स के आधार नंबर का इस्तेमाल कर ग्राहकों के खातों से फ्रॉड तरीके से रकम निकालने के मामले हुए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों को रोकने के लिए कदम उठाए गए हैं। इसके अलावा ऐसे मामलों को अंजाम देने वाले अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई है।

-  उन्होंने बताया कि बैंक ऑफ इंडिया में आधार नंबर की मैपिंग कर फ्रॉड के दो मामले सामने आए हैं। इन मामलों में 1.37 करोड़ रुपये का चूना बैंक कस्टमर्स को लगा दिया गया।

- इसके अलावा सिंडिकेट बैंक में 2.26 लाख रुपये के फ्रॉड के दो मामले सामने आए। शुक्ला ने कहा कि बैंक ऑफ इंडिया में सामने आए दोनों मामलो में आधार नंबर से खेल करने वाला कोई और नहीं बल्कि बैंक के ही स्टाफ थे।