जनता के "मन की बात" बना इस बार पद्म पुरस्कार के नाम चुनने का आधार

नई दिल्ली (9 जनवरी ): पिछली सरकार की परिपाटी से अलग हटते हुए इस बार मोदी सरकार उन गुमनाम शख्सियतों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित कर सकती है, जिनका नाम सुर्खियों में नहीं होता है।

खबरों के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने 'मन की बात' कार्यक्रम के दौरान मिले सुझावों पर अमल करते हुए ऐसे कई नामों पर मोहर लगाई है, जिन्हें साल 2017 में देश के नागरिक सम्मान से नवाज़ा जाएगा। प्रधानमंत्री ने अब तक 'मन की बात' में जिन मुद्दों पर बात की है, उससे जुड़े क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को तरजीह दी गई है। इसके लिए 9 सदस्यीय समिति ने 5 जनवरी 2017 को बैठक की थी, जिसमें 150 नाम फाइनल किए गए।

जानकारी के मुताबिक, फाइनल किए गए नामों में से 25 नाम कट सकते हैं। ऐसे में पद्म अवॉर्ड की फाइनल लिस्ट में 125 नाम शामिल हो सकते हैं।