जीएसटीः पीपीएफ और एनएससी के ब्याज पर चल गयी कैंची

नई दिल्ली (1 जुलाई): जीएसटी लागू होने से ठीक पहले सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर दी जाने वाली ब्याज दरों में मामूली कटौती कर दी। लोक भविष्य निधि (पीपीफ), राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र (एनएससी) और किसान विकास पत्र (केवीपी) जैसी योजनाओं की ब्याज दरों में 10 आधार अंक यानी .1% की कमी की गई है।

पीपीएफ और एनएससी पर 7.8% की ब्याज दर मिलेगी, जबकि केवीपी पर यह 7.5 फीसदी होगी। इससे पहले पीपीएफ, एनएससी और केवीपी पर क्रमश: 7.9, 7.9 और 7.6 फीसदी ब्याज दर थी। वरिष्ठ नागरिक बचत योजना और सुकन्या समृद्धि योजना पर 8.3 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा। इन पर पहले 8.4% ब्याज दर थी।

छोटी बचत योजनाएं की ब्याज दरें सरकारी बॉन्ड्स की 10 साल की औसत आय से जुड़ी हुई हैं और इनकी दरों में हर तीन महीने में बदलाव होता है। इससे पहले संशोधन मार्च में हुआ था और उस समय भी सभी योजनाओं की दर में 10 आधार अंकों की कमी की गई थी।