50 हजार के कर्जे में डूबी एयर इंडिया से पल्ला झाड़ने वाली है मोदी सरकार !

नई दिल्ली (28 मई):  पचास हजार करोड़ रुपये के कर्जें में डूबी एयर इंडिया को मोदी सरकार अपना पल्ला झाड़ने जा रही है।  वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार एयर इंडिया के परिचालन से बाहर निकलने की योजना बना रही है।  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जेटली ने  एक साक्षात्कार में कहा, 'जेट एयरवेज, इंडिगो, गोएयर जैसी कई निजी विमानन कंपनियां हैं। अगर 86 फीसदी विमानन बाजार निजी क्षेत्र संभाल सकता है तो 100 फीसदी भी निजी क्षेत्र द्वारा चलाया जा सकता है। राष्ट्रीय यात्री विमानन कंपनी एयर इंडिया की बाजार हिस्सेदारी 14 फीसदी है और उस पर 50,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। जेटली ने कहा, 'एयर इंडिया पर 50,000 करोड़ रुपये का कर्ज है, जबकि उसके विमानों का मूल्यांकन 20,000-25,000 करोड़ रुपये होगा। नागरिक विमानन मंत्रालय सभी संभावनाएं तलाश रहा है।'