Blog single photo

10 साल तक बुजुर्गों को 10 हजार रुपए पेंशन देगी मोदी सरकार

केंद्र की मोदी सरकार ने वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए एक बड़ी योजना लेकर आई है। अब प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) के अंतर्गत वरिष्‍ठ नागरिक 15 लाख रुपए तक निवेश कर पाएंगे। इसी के साथ अब वरिष्ठ नागरिकों को हर महीने 10,000 रुपए पेंशन मिलने का रास्ता भी साफ हो गया है।

नई दिल्ली ( 3 मई ): केंद्र की मोदी सरकार ने वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए एक बड़ी योजना लेकर आई है। अब प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) के अंतर्गत वरिष्‍ठ नागरिक 15 लाख रुपए तक निवेश कर पाएंगे। इसी के साथ अब वरिष्ठ नागरिकों को हर महीने 10,000 रुपए पेंशन मिलने का रास्ता भी साफ हो गया है। पहले निवेश की अधिकतम सीमा केवल 7.5 लाख रुपए ही थी। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इसकी पुष्टि की है। उनके मुताबिक निवेश सीमा प्रति परिवार 7.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 15 लाख रुपये करने से वरिष्ठ नागरिकों की सामाजिक सुरक्षा का कवर बढ़ जाएगा।केंद्र ने यह कदम सामाजिक सुरक्षा बढ़ाने के उद्देश्‍य से उठाया है। प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (PMVVY) भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) चला रही है। इसका उद्देश्‍य 60 वर्ष से ऊपर के लोगों को सामाजिक सुरक्षा देना है। सरकार के मुताबिक मार्च 2018 तक कुल 2.23 लाख वरिष्‍ठ नागरिकों ने इस योजना को ग्रहण किया है। इससे पहले वरिष्‍ठ पेंशन बीमा योजना-2014 प्रभावी थी, जिसमें 3.11 लाख वरिष्‍ठ नागरिक पंजीकृत थे।जानिए क्या है पीएमवीवीवाईइस योजना के तहत सदस्यों को 10 साल तक 8 प्रतिशत सुनिश्चित रिटर्न के रूप में पेंशन मिलती है। वरिष्ठ नागरिक मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक आधार पर पेंशन लेते हैं। यही नहीं रिटर्न 8% से कम आने पर सरकार उसकी भरपाई करती है।ऐसे उठाएं लाभवित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस पेंशन योजना की शुरुआत 2017 में की थी। इस योजना को ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी सबस्‍क्राइब किया जा सकता है। इस योजना को माल एवं सेवा कर (GST) से छूट दी गई है। पेंशन लेने के 3 साल बाद नकदी जरूरतों को पूरा करने के लिये खरीद मूल्य का 75% तक कर्ज लिया जा सकता है। पेंशनभोगी की पॉलिसी अवधि के दौरान मौत होने की स्थिति में खरीद मूल्य लाभार्थियों को सौंपा जाएगा। इस दौरान लागत का भुगतान सरकार से सब्सिडी के रूप में एलआईसी को करेगी।

Tags :

NEXT STORY
Top