कच्चे तेल के दाम नहीं घटे तो डीजल-पेट्रोल की कीमतों में लगी रहेगी आग

नई दिल्ली (25 मई): देश भर में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतें लोगों के लिए परेशानी का सबब बन चुकी हैं। सरकार के प्रति लोगों का गुस्सा साफ तौर से रोड पर दिखाई दे रहा है। वहीं सरकार इसपे तर्क दे रही है कि कच्चे तेल की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है इसलिए देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा करना पड़ा है। लेकिन अब इस सब के बीच एक राहत भरी खबर आ रही है।आपको बता दें कि लगातार महंगा हो रहा कच्चा तेल गुरुवार को थोड़ा सस्ता हो गया। दुनियाभर में बेंचमार्क माना जानेवाला ब्रेंट क्रूड 1 प्रतिशत कमजोर होकर प्रति बैरल 80 डॉलर के नीचे आ गया। ऐसा इस आशंका में हुआ कि वेनेजुएला और ईरान की ओर से तेल आपूर्ति में कमी की भरपाई के लिए तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक में दो वर्षों का हुआ उत्पादन समझौता टूट सकता है।हालांकि दाम में मामूली कमी आई, लेकिन इससे सरकार के अंदर इस विचार को ताकत मिल गई कि निकट भविष्य में तेल के दाम में कटौती के सिलसिले का इंतजार किया जाए और इस बीच इस समस्या का दीर्घावधि समाधान ढूंढा जाए। गौरतलब हो कि ग्राहकों को महंगाई से राहत तभी मिल पाएगी जब कच्चे तेल की कीमतें कुछ समय के लिए लगातार गिरती रहे।