सैलरी बांटने के लिए सरकार ने सेना को मैदान में उतारा

नई दिल्ली(1 दिसंबर): आज महीने की पहली तारीख है, वो दिन जिसका हर कर्मचारी बेसब्री से इंतजार करता है। नोटबंदी के बाद केंद्र सरकार और आरबीआई ने इस तारीख के लिए कई इंतजाम किए हैं ताकि कर्मचारियों और पेंशनरों तक उनकी तनख्‍वाह और पेंशन वक्‍त पर पहुंच सके।

- जहां एक तरफ सैलरी बांटने वाले बैंकों में अतिरिक्‍त कर्मचारी काम कर रहे हैं वहीं सेना और वायुसेना को भी इसमें शामिल कर लिया गया है। 

- देश की चार नोट छापने वाली यूनिटों से देशभर के बैंकों में पैसा पहुंचाने का काम काम जारी है।

- देवास प्रिंटिंग प्रेस से भी छपे हुए नए नोटों को लेने के लिए वायुसेना का विमान पहुंचा वहीं सरकार ने नकदी की सप्‍लाय बढ़ाने के लिए करीब 200 सैनिकों को काम पर लगा दिया है। 

- जानकारी के मुताबिक जवानों ने सोमवार से काम करना शुरू भी कर दिया है।

- हालांकि केंद्र सरकार के दावों के अनुसार कर्मचारियों की सैलरी तो बैंकों तक पहुंच जाएंगी लेकिन लोगों का सवाल है कि इसे निकालेंगे कैसे क्‍योंकि सरकार के निर्देशों के अनुसार जहां एटीएम से निकासी की सीमा अब भी सिर्फ 2500 है वहीं बैंकों से निकाली जा सकने वाली रकम की सीमा भी हफ्ते में 24 हजार रुपए ही है।