योगी के गढ़ गोरखपुर में मुस्लिम बच्‍चों को पढ़ाया जा रहा है जन गण मन और नैतिकता का पाठ

नई दिल्ली ( 23 मई ): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में मस्जिदों में मुस्लिम बच्‍चों को जन-गण-मन और नैतिक शिक्षा का पाठ पढ़ाया जा रहा है। दीनियात मकतब नाम के चैरिटेबल ट्रस्‍ट द्वारा वर्ष 2012 से हर कक्षा का पाठ्यक्रम बनाकर उन्‍हें पढ़ाया जा रहा है। शहर की हर गली और मोहल्‍लों में 50 मस्जिदों और मजारों पर संस्‍कार का यह पाठ पढ़ाया जा रहा है। यहां आने वाले बच्‍चों में कोई अमीर और गरीब नहीं है। हर घर से आने वाले बच्‍चों को बराबर का दर्जा प्राप्‍त है।

 

संतकबीनगर के रहने वाले 67 वर्षीय खालिद हबीब ने बताया कि आज काॅन्‍वेंट स्‍कूलों में बच्‍चों का दाखिला कराने की होड़ मची हुई है। आज के बच्‍चों के भीतर नैतिक शिक्षा का क्षरण होना स्‍वाभाविक है। ऐसे में एक ऐसी संस्‍था की जरूरत महसूस हुई जो बच्‍चों को नैतिक शिक्षा और देशभक्ति का पाठ पढ़ा सके। वर्ष 2012 में उन्‍होंने कुछ लोगों के साथ मिलकर ‘दीनियात मकतब’ ट्रस्‍ट चलाने वाले मुंबई के रफीक भाई से संपर्क किया और बात बन गई। यह संस्‍था देश के हर राज्‍यों में मुस्लिम बच्‍चों को मस्जिदों में नैतिक शिक्षा और देशभक्ति का पाठ पढ़ाती है।

 

खालिद बताते हैं रफीक भाई से बातचीत के बाद सिलसिला चल निकला और वह लोग शहर की गली-मोहल्‍लों की लगभग 50 मस्जिदों में दोपहर 2.30 बजे से रात 8 बजे तक लोअर केजी से लेकर कक्षा 5 तक के बच्‍चों तक को शिक्षा दी जाती है। सबसे पहले राष्‍ट्रगान जन-गण-मन का पाठ पढ़ाकर उनके भीतर देशभक्ति की भावना जागृत की जाती है। इसके साथ ही बड़ों का सम्‍मान, सच बोलना, साफ-सफाई, संस्‍कार और सभी प्रकार की नैतिक शिक्षा का पाठ पढ़ाया जाता है. उन्‍हें यहां पर पांच साल में कुरान की तालीम भी पूरी कराई जाती है यह भी बताया जाता है कि कुरान उन्‍हें क्‍या शिक्षा देता है।