मुसीबत में मददगार बनेगा गूगल का यह नया ऐप

नई दिल्ली ( 7 दिसंबर ): गूगल ने अपने यूजर्स के लिए एक नया सेफ्टी ऐप 'ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स' लॉन्च किया है। सबसे बड़े सर्च इंजन का यह नया पर्सनल सेफ्टी ऐप इमर्जेंसी की हालत में चुने हुए कॉन्टैक्ट्स के साथ लोकेशन शेयर करने की सुविधा देता है। खास बात यह है कि यह ऐप ऑफलाइन डिवाइस में भी काम करेगा।

गूगल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर मन टी वीन कहते हैं, 'आप आश्वासन चाहते हैं या फिर वास्तव में इमर्जेंसी में हैं, ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स आपको तुरंत उन लोगों से जोड़ देगा जो आपके बारे में सबसे ज्यादा फिक्रमंद हैं और जब आपको उनकी सबसे ज्यादा जरूरत है।'

ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स ऐप प्रयोग के लिए यूजर्स को अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को 'ट्रस्टेड' स्टेटस असाइन करना होगा। ये कॉन्टैक्ट्स यूजर की एक्टिविटी को देख पाएंगे और यह जान पाएंगे कि सबकुछ ठीक है या नहीं।

इमर्जेंसी केस में आप अपना लोकेशन इन कॉन्टैक्ट्स के साथ शेयर कर सकते हैं। दूसरी तरफ यदि 'ट्रस्टेड' कॉन्टैक्ट्स यदि यूजर के बारे में जानना चाहते हैं तो वह 'ट्रस्टेड' स्टेटस देखने के लिए रिक्वेस्ट भेज सकते हैं। यदि सबकुछ ठीक है तो यूजर रिक्वेस्ट को ठुकरा सकते हैं।

हालांकि गूगल के मुताबिक, यदि यूजर एक निश्चत समय में रिक्वेस्ट का रिप्लाई नहीं करता है तो यह अपने आप ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स को लोकेशन सेंड कर देगा। ऐप में यह सुविधा मौजूद है कि आप लोकेशन शेयर रोक सकते हैं और जब चाहें ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स बदल सकते हैं।

चूंकि यूजर ऑफलाइन मोड में भी लोकेशन शेयर कर सकता है, इसलिए उसे ट्रस्टेड कॉन्टैक्ट्स उसे वर्जुअली भी गाइड कर सकते हैं। यह ऐप एंड्रॉयड यूजर्स के लिए गूगल ऐप पर उपलब्ध है। आईओएस यूजर्स गूगल कॉन्टैक्ट्स पेज से डाउनलोड कर सकते हैं।