गूगल में काम करती हैं यह 200 बकरियां, मिलती है सैलरी

वॉशिंगटन (8 फरवरी): सबसे बड़ी सर्च इंजन कंपनी गूगल में बकरियां भी हैं। कंपनी ने करीब 200 बकरियों को बतौर कर्मचारी काम पर रखा है। ये बकरियां किसी सॉफ्टवेयर पर काम नहीं करती हैं बल्कि दफ्तर के लॉन की घास को चरती हैं।

अमेरिका स्थित गूगल के माउंटेन व्यू मुख्यालय में इन बकरियों को बकायदा सैलरी के साथ अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं। हफ्ते में एक बार यह बकरियां गूगल दफ्तर के लॉन की घास चरती हैं। इससे घास की ट्रिमिंग के साथ बकरियों का पेट भी भर जाता है। खुद गूगल ने अपने ब्लॉग पर बकरियों को काम देने की बात कही है। गूगल अपने दफ्तर के लॉन में घास कटाई के लिए मशीन का प्रयोग नहीं होता। इससे निकलने वाले धुंए और आवाज से दफ्तर में इनोवेशन के काम कर रहे कर्मचारियों को परेशानी होती है।

करीब 200 बकरियां नियमित रूप से गूगल के लॉन में छोड़ दी जाती है। वो कुछ ही घंटों में घास को साफ कर देती हैं। हालांकि बकरियां केवल घास चरें और दफ्तर में न घुस जाएं इसके लिए बकरियों को लाने वाले चरवाहे को खास ट्रेनिंग दी गई है। याहू ने शुरू किया था प्रयोग बकरियों से लॉन में घास की कटाई का काम सबसे पहले याहू ने 2007 में शुरू किया था, जिसके बाद गूगल ने भी इस तरीके को अपनाया।