मासूम के लिए रुक गई दुरंतो एक्सप्रेस...

अमर देव, पुरुलिया (14 जुलाई): रेलवे से शिकायतों की तो हज़ार कहानियां मिलती हैं, लेकिन रेलवे मिनिस्ट्रीं कभी-कभी ऐसे काम भी करती हैं जिससे रेल के सफर पर मुसाफिरों का भरोसा बढ़ जाता है। हावड़ा से नई दिल्ली आ रही दुरंतो एक्सप्रेस में भी कुछ ऐसा ही हुआ।

मासूम के लिए दुरंतो जैसी वीआईपी ट्रेन आधे घंटे तक स्टेशन पर खड़ी रही। दरअसल हावड़ा से नई दिल्ली जा रहे एसके मलिक के पांच साल के बेटे अमित की ट्रेन में अचानक तबियत खराब होने लगी। लंबे सफर में बच्चे को दस्त और उल्टियां होने लगीं। जब बच्चे की स्थिति ज्यादा बिगड़ने लगी तो ट्रेन के टीईटी से मदद मांगी गई।

टीईटी ने तुरंत एक्शन लिया और सीनियर ऑफिसर्स को बच्चे के बारे में बताया। रेलवे मिनिस्ट्री तुरंत हरकत में आई और बांकुड़ा पार होते ही अगले आद्रा स्टेशन पर ट्रेन को रोक दिया गया। कुछ ही मिनटों में बच्चे को देखने ट्रेन के एस 2 कोच में स्टेशन मैनेजर और डॉक्टरों की टीम पहुंच गई।

बच्चे की जांच की गई और उसका इलाज शुरू हुआ। ट्रेन तब तक स्टेशन पर ही रुकी रही, जब तक कि बच्चे को आराम नहीं आ गया। इसके डॉक्टरों ने बच्चे को जरूरी दवाएं दी। मुश्किल वक्त में एक गुहार पर इस तरह की मदद मिलने से अमित की मां रेलवे को शुक्रिया कहना नहीं भूली।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=yzLZCnwFZuk[/embed]