सरकार का बंपर लूट ऑफर: 2000 करोड़ के सोने की होगी नीलामी


नई दिल्ली (18 जुलाई): मोदी सरकार सोने ही चाहत रखने वाले लोगों के लिए एक बंपर ऑफर पेश करने वाली है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सरकार गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम के तहत बैंकों में पड़े करीब 2,000 करोड़ रुपए के सोने की जल्द नीलमी करने वाली है।

वित्त मंत्रालय ने इस नीलामी को मंजूरी दे दी है। देश पर से सोने के आयात का बोझ कम करन के लिए पीएम मोदी ने नवंबर 2008 में गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम की शुरुआत की थी, जिसका मकसद घरों में पड़े सोने के जरिए सोने का आयात कम करना था।

- इस स्कीम के तहत घरों में रखे सोने को बैकों में जमा कराने पर टैक्स फ्री ब्याज दिया जाता है।
- इस स्कीम के तहत सरकार के पास करीब 2,000 करोड़ रुपए की कीमत का 7-8 टन सोना जमा हो चुका है, जिसे सरकार अब ज्वैलर्स को नीलाम करेगी।
- स्कीम के तहत सरकार ने 3 साल तक के निवेश पर सरकार की तरफ से 0.6 फीसदी सालाना टैक्स फ्री ब्याज, 5.7 साल तक के निवेश पर 2.25 फीसदी ब्याज और 12.15 साल तक के निवेश के लिए 2.5 फीसदी सालाना ब्याज दिया जा रहा है।
- सरकार ने इस स्कीम के जितना सफल होने की उम्मीद लगाई थी, उतनी सफलता अबतक नहीं मिली है।
- सोने की शुद्धता की जांच के लिए सीमित मात्रा में कलेक्शन और प्यूरिटी टेस्टिंग सेंटर होने की वजह से लोग अपने घरों में रखे सोने को ज्यादा नहीं निकाल रहे हैं।
- साथ में सोने के प्रति भारतीयों का जो लगाव है, वह भी कम नहीं हुआ है।
- ऐसे में अबतक सरकार को इस स्कीम से सिर्फ 7-8 टन ही सोना मिल पाया है।
- रिपोर्ट के मुताबिक भारत के घरों में करीब 23,000-24,000 टन सोना पड़ा हुआ है।