युवा महिला विश्व चैम्पियनशिप में भारत ने 5 गोल्ड मेडल जीत रचा इतिहास

India's Sakshi (L) is declared the winner against Ivy-Jane Smith of England following the final bout of the bantam weight (54kg) category at the AIBA Women's World Youth Boxing Championships in Guwahati on Sunday.

नई दिल्ली (26 नवंबर): युवा महिला विश्व चैम्पियनशिप में भारत ने रविवार को इतिहास रचते हुए पांच गोल्ड मेडल अपने नाम किए। अंतिम दिन पांच गोल्ड मेडल जीतकर भारत ने ऐतिहासिक सफलता दर्ज की। भारत के लिए नीतू, ज्योति, साक्षी, शशि चोपड़ा और अनकुशिता बोरो ने गोल्ड जीते।

नीतू ने लाइटफ्लाईवेट कटेगरी में सोना जीता जबकि ज्योति ने फ्लाइवेट में बाजी मारी। इसी तरह साक्षी ने बेंटमवेट वर्ग में पहला स्थान हासिल किया। शशि ने फीदरवेट कटेगरी में सोना जीता। असम की अनकुशिता बोरो ने 64 किलोग्राम वर्ग में गोल्डन पंच लगाया।

नीतू ने फाइनल में कजाकिस्तान की झाजिरा उराकबायेवा को 5-0 से हराया। दूसरी ओर, ज्योति ने रूस की एकातेरिना मोलचानोवा को इसी अंतर से पराजित कर अपनी टीम को दूसरा स्वर्ण दिलाया।

बेंटम वेट के फाइनल में साक्षी ने इंग्लैंड की इवी जेन स्मिथ को कड़े मुकाबले में 3-2 से हराकर पहला स्थान हासिल किया जबकि फीदरवेट में शशि ने वियतनाम की नगोक जो होंग को 4-1 से परास्त किया।

स्थानीय खिलाड़ी अंकुशिता ने फाइनल में रूस की एकातेरिना डेनिक को 4-1 से हराया। अंकुशिता को टूर्नामेंट का श्रेष्ठ मुक्केबाज चुना गया। इस बीच भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने विजेता खिलाड़ियों को दो-दो लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।