गाय दूर करेगी देश की ग़रीबी, गौमूत्र में पाया गया सोना

देवेंद्र भामरे, इंदौर (29 जून): दुनिया में भारत सोना उत्पादन में दसवें नंबर पर है, लेकिन क्या आप जानते हैं भारत गोल्ड के मामले में नंबर वन बन सकता है और हिंदुस्तान को ये मकाम हासिल करवा सकती है पवित्र माने जाने वाली गाय। आप शायद सोच में पड़ गए होंगे, लेकिन ये सच है। गौमूत्र पर 4 साल तक लम्बी रिसर्च हुई और पाया गया कि गौमूत्र में सोना है।

4 साल की लम्बी रिसर्च के बाद वैज्ञानिक इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि गाय के यूरिन यानी गौमूत्र में सोना है। जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने गिर नस्ल के गौमूत्र में सोना होने का दावा किया है। डॉक्टर बीए गोलकिया जूनागढ़ एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी में बायोटेक्नॉलजी विभाग के प्रमुख हैं। गिर गाय के यूरिन पर होने वाली शोध को डॉ गोलकिया ने ही लीड किया है।

इस रिसर्च में करीब 400 गिर गाय के यूरिन का सैम्पल लिया गया। विश्वविद्यालय की फूड टेस्टिंग लैबोरेटरी में टेस्ट किया। 1 लीटर गौमूत्र में 3 मिलीग्राम से 10 मिलीग्राम सोने का अंश मिला। गौमूत्र में कीमती धातु आयन यानी गोल्ड सॉल्ट के रूप में मिली जो घुलनशील होती है। गौमूत्र के सोने को कैमिकल प्रॉसेस से ठोस रूप दिया जा सकता है।  यानी अब वैज्ञानिक दावा कर रहे हैं कि गौमूत्र से शुद्ध ठोस सोना हासिल किया जा सकता है.

अब वैज्ञानिक कह रहे हैं कि भारत में हर नस्ल की गाय के यूरिन की जांच की जाएगी और अगर हर नस्ल की गाय के यूरिन में सोना पाया गया तो ये रिसर्च हिंदुस्तान के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित हो सकती है और भारत को फिर से सोने की चिड़िया बनने से कोई नहीं रोक सकेगा।

देखें पूरी रिपोर्ट:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=_3m4ZnyujnU[/embed]