महिलाओं के लिए गोवा सबसे सेफ, दिल्ली की हालत खराब

नई दिल्ली(2 नवंबर): भारत में महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित स्थान गोवा है, इसके बाद केरल, मिजोरम, सिक्किम और मणिपुर का नंबर आता है।  - महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित राज्यों में बिहार, झारखण्ड, उत्तर प्रदेश का नंबर आता है। 

- देश की राजधानी दिल्ली का रिकॉर्ड भी महिला सुरक्षा में बहुत अच्छा नहीं है और इसलिए यह भी लिस्ट में काफी नीचे है। 

-पहले जेंडर वलनर्बिलटी इंडेक्स (जीवीआई) के जरिये चार मापदंडों- शिक्षा, स्वास्थ्य, गरीबी और हिंसा के खिलाफ सुरक्षा- पर महिलाओं को पेश आने वालीं चुनौतियों को समझने और इनसे निपटने के लिए जरूरी नीतियां बनाने में मदद मिलने की संभावना है। 

- प्लान इंडिया द्वारा तैयार की गई इस रिपोर्ट को बुधवार को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा जारी किया गया। 

- इंडेक्स में जहां राष्ट्रीय औसत 0.5314 रहा वहीं गोवा 0.656 अंकों के साथ सबसे ऊपर रहा।

- इंडेक्स में 0 से 1 बीच अंक दिए गए। अंक 1 के जितना करीब होंगे वे उतने ही बेहतर माने जाएंगे। गोवा सुरक्षा में सबसे आगे रहा, शिक्षा में पांचवें, स्वास्थ्य में पांचवें और गरीबी में 8वें स्थान पर रहा। 

- केरल के अंक 0.634 रहे। इसमें बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था का बड़ा योगदान है। 

- इस तालिका में सबसे नीचे बिहार रहा। इसका जीवीआई 0.410 रहा। इसे महिलाओं और लड़कियों के लिए बहुत बुरा माना गया। स्वास्थ्य और गरीबी के लिहाज से भी यह सबसे नीचे रहा। शिक्षा के क्षेत्र में भी यह सबसे निचले राज्यों में शुमार रहा। राज्य में 39 फीसदी लड़कियों की शादी 18 वर्ष से कम आयु में हो जाती है। सर्वे के दौरान 15-19 वर्ष के आयुवर्ग की 12.2 महिलाएं या तो मां बन चुकीं थीं या फिर गर्भवती थीं। 

- दिल्ली का नंबर 30 में से 28वां रहा। इसका जीवीआई स्कोर 0.436 था। महिला सुरक्षा और शिक्षा में इसका रिकॉर्ड बहुत खराब है। 

- झारखण्ड 27वें (0.450) नंबर पर था वहीं उत्तर प्रदेश 29वें (0.434) नंबर पर रहा। स्टडी का डाटासेट 170 संकेतों पर आधारित है इसमें 2011 की जनगणना भी शामिल है।