भारत-रूस के बीच मिसाइल सिस्टम के लिए 39 हजार करोड़ डील पर लगेगी मुहर

नई दिल्ली(15 अक्टूबर): आठवां ब्रिक्स सम्मेलन आज से गोवा में शुरू हो रहा है। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन कई समझौतों पर हस्ताक्षर कर सकते हैं।

- भारत रूस के साथ एस-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील साइन करने जा रहा है। यह डील करीब 39000 करोड़ रुपये की है जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन साइन करेंगे। इस मिसाइल को खरीदने वाला भारत दुनिया का दूसरा देश होगा।

- इस अहम डील के साथ ही भारत की कोशिश वायुसेना के लिए मध्यम क्षमता के 48 कोमोव हेलीकॉप्टर खरीदने की भी है। अब तक भारत ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टरों के रूप में एमआई-17 हेलीकॉप्टरों पर ही निर्भर है। 

- वहीं, सशस्त्र बलों को ले जाने के लिए 100 के करीब इन्फैंट्री कॉम्बैट वेहिकल्स की खरीदारी भी होनी है। यही नहीं डीजल-इलेक्ट्रिक सबमरीन्स के अलावा भारत रूस से परमाणु संपन्न सबमरीन लीज पर लेने की तैयारी में भी है। इससे हिंद महासागर में भी भारत का दबदबा बढ़ेगा और वो चीन की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार होगा।

- पुतिन और मोदी की बातचीत के बाद दोनों नेता संयुक्त बयान जारी करेंगे, जो विभिन्न वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों को सुलझाने की दिशा में उनके साझा प्रयासों को बताएगा। दोनों पक्ष अपने कूटनीतिक संबंधों की स्थापना के 70 साल पूरे होने के मौके पर भविष्य के अपने कदमों के एक खाका को भी मंजूरी देंगे। पुतिन कह चुके हैं कि वह ड्रग्स, आतंकवाद और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आपसी सहयोग बढ़ाने के लिए कटिबद्ध हैं।