मछली खाने के मामले में रेकॉर्ड बढ़ोतरी

नई दिल्ली (14 जुलाई): दुनिया भर में अगर मछलियों के उपभोग की बात की जाए, तो एक साल में इनका उपभोग प्रति व्यक्ति 20 किलोग्राम से भी आगे बढ़ गया है। ऐसा पहली बार है, जब इसमें बढ़ोतरी एक्वाकल्चर सप्लाई और मांग में आई मजबूती के चलते हुई है। इसके अलावा कुछ प्रजातियों का रेकॉर्ड दोहन और बर्बादी में आई गिरावट के चलते हुआ है।  

- FAO रिपोर्ट से सामने आए ये ताजा आंकड़े

- वैश्विक स्तर पर 2014 में 9.34 करोड़ टन मत्स्य उत्पादन हुआ। जिनमें इनलैंड वाटर्स का आउटपुट शामिल है। जो पिछले दो सालों में थोड़ा बढ़ा है।

- लोगों के लिए वैश्विक स्तर पर मछली आपूर्ति ने पिछले पांच दशकों में पॉपुलेशन ग्रोथ को भी पीछे छोड़ दिया है। प्राथमिक अनुमान बताते हैं कि प्रति व्यक्ति उपभोग 20 किलोग्राम से ज्यादा पहुंच चुका है। जो 1960 के दशक से दोगुना है। जो एक्वाकल्चर में आई बड़ी वृद्धि को दिखाता है।