मामा के अत्याचार से दुखी भांजी ने मांगी इच्छा मृत्यु

नई दिल्ली (15 दिसंबर): 12 साल की अनुष्का पांडेय चंदौली जिले की रहने वाली हैं और उन्होंने  आईजी वाराणसी जोन के ऑफिस में जाकर एक पत्र सौंपा है। इस पत्र में अनुष्का ने जो मांग की है, वह किसी का भी दिहला सकती है। अनुष्का ने इस पत्र में अपने लिए इच्छा मृत्यु मांगी है। अनुष्का ने अपने ही सगे मामा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। अनुष्का का कहना है कि उसके मामा ने दहेज का झूठा केस कर मां को बेंच दिया और उसके निर्दोष पिता बीते 10 महीने से जेल में बंद हैं।

कष्टों से आजिज आकर अनुष्का ने न्याय की गुहार लगाते हुए अपने लिए इच्छा मृत्यु की मांग की है। बच्ची के पत्र का संज्ञान लेते हुए आईजी एसके भगत ने एसपी चंदौली दीपिका तिवारी को जांच के आदेश दे दिए हैं। अनुष्का आईजी के ऑफिस पत्र देने अकेली पहुंच गई। शिकायत के मुताबिक, बच्ची के पिता ओम प्रकाश पांडेय खुर्द गांव के रहने वाले हैं। ओम ने अनुष्का की मां गुड़िया से 13 साल पहले शादी की थी।

बच्ची का आरोप है कि 14 नवंबर को मामा चंद्रशेखर तिवारी उसके घर पहुंचे और मां को अपने साथ ले गए। बच्ची ने बताया कि मां ने हमें भरोसा दिया है कि वह उसी शाम को घर लौट आएंगी, लेकिन वह उस दिन से आज तक घर नहीं लौटीं। अनुष्का ने बताया, 'जब मामा पर दबाव डाला गया तो उन्होंने दहेज के एक झूठे केस में मेरे पिता को फंसा दिया। तब से पिता जेल में हैं।' अनुष्का ने बताया कि उसे व उसके भाई-बहनों का पालन-पोषण उसके दादी-दादा कर रहे हैं, स्कूल की फीस जमा न होने के चलते स्कूल से कभी भी नाम कट सकता है।