लखनऊ: मदरसे से छुड़ाई गईं लड़कियों का बड़ा खुलासा, बताया- क्या-क्या होता था

नई दिल्ली ( 30 दिसंबर ): उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस ने एक मदरसा पर कार्रवाई की। पुलिस ने मदरसे से कई दर्जन लड़कियों को मुक्त करवाया। मदरसे के मैनेजर पर यौन शोषण का आरोप लगा है।

आपको बता दें कि थाना सहादतगंज के मदरसा जामिया ख़दीजातुल लीलनवात यासीनगंज के प्रबंधक मो तैयब जिया संचालक हैं। मो तैयब जिया पर ही छात्राओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। मो तैयब पुलिस हिरासत में है।

मदरसा खदीजतुल कुबरा लिलबनात में जब पुलिस पहुंची तो छात्राओं की दर्द की दास्तान सामने आई। छात्राओं ने पूछताछ में पुलिस अधिकारियों को बताया कि आरोपी संचालक कारी तैयब जिया कार्यालय में बुलाकर उनसे पैर दबवाता था। छेड़खानी भी करता था और विरोध करने पर डंडे से पीटता था। उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं हुआ तो उन्होंने पत्र फेंककर मोहल्ले वालों को आपबीती बताई।

इसके बाद पुलिस और प्रशासन की टीम ने छापा मारकर शुक्रवार रात 51 छात्राओं को मुक्त करवाया। पुलिस ने छात्राओं के बयान दर्ज कर कार्रवाई में शामिल कर लिया है।  लखनऊ पश्चिम के एसपी ने कहा कि हम जांच कर रहैं कि मदरसा रजिस्टर्ड है या नहीं। 

मदरसे के संस्थापक मोहम्मद जिलानी का आरोप है कि कारी तैयब मदरसा हड़पना चाहता है। उन्होंने जमीन खरीदकर मदरसा बनवाकर उसे देखरेख के लिए दिया था, लेकिन उसने मनमानी कर वहां हॉस्टल शुरू कर दिया और सिर्फ लड़कियों को ही दाखिला दे रहा था। यही नहीं कारी तैय्यब उल्टे उन्हें फर्जी मामले में फंसाने की धमकी भी दे रहा था।