आधी रात सड़को पर निकले लड़कियों के हुजूम, बोलीं- मेरी रात-मेरी सड़क

 

नई दिल्ली (13 अगस्त): देशभर को झकझोरने वाला दिल्ली का निर्भया कांड...और अब चंडीगढ़ में वर्णिका से छेड़छाड़ मामला। दोनों ही घटनाओं में एक समानता। सड़क और रात। फिर एक बड़ा सवाल भी- क्या रात और सड़क लड़कियों के लिए नहीं है। इसी मुद्‌दे को लेकर जयपुर में लड़कियों ने ‘मेरी रात-मेरी सड़क’ अभियान चलाया। शनिवार रात नौ बजे से ही तैयारी शुरू हो गई। ठीक रात 12 बजे जगह-जगह मार्च निकाले गए। मानसरोवर में एसएफएस से वीटी रोड तक महिलाएं रात को पैदल चलीं। इसके अलावा शहीद स्मारक पर भी ऐसा ही दृश्य रहा। स्टेच्यू सर्किल व शहर के अन्य हिस्सों में भी लड़कियां एकजुट होकर रात को सड़कों पर निकलीं। इस अभियान में शहर के कई कॉलेजों की स्टूडेंट के अलावा कामकाजी लड़कियां, डॉक्टर्स, सोशल वर्कर्स भी शामिल हुईं।