मछली ने काटा, बगल से निकला मगरमच्छ, पर नहीं रूकी 'जलपरी', 280 KM सफर तय

नई दिल्ली (1 सितंबर): जलपरी नाम से मशहूर हो चुकी 10 वर्षीय श्रद्धा शुक्ला गंगा की उफनती लहरों के बीच कानपुर से तैरकर उन्नाव-फतेहपुर-कौशांबी होते हुए आज इलाहाबाद पहुंची। वह अब तक 280 किलोमीटर का सफर तय कर चुकी हैं। 

- रिपोर्ट के मुताबिक, कौशांबी से तैरकर आते समय मछली ने 'नन्ही जलपरी' को डंक मार दिया। जिससे उसकी तबियत भी खराब हो गई है। - लेकिन बुलंद इरादे और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने के लिए रविवार को श्रद्धा कानपुर के मैस्करघाट से गंगा में उतरी। - बुधवार शाम को संगम के पासके घट पर कौशांबी से उनका आने कार्यक्रम तय था। देखने वालों की भीड़ इंतजार कर रही थी।  - बाद में पता चला कि वह रसूलाबाद के बाहर ही वह नाइट हॉल्ट करेंगी।

- गुरुवार को सुबह 9 बजे संगम के लेटे हुए हनुमान घाट से अगले पड़ाव मिर्जापुर के लिए रवाना होंगी। - मीडिया से बातचीत में उन्‍होंने बताया कि कौशांबी से आते वक्‍त मछली ने उन्‍हें डंक मार दिया। इससे उनकी तबियत ठीक नहीं है।  - बताया गया कि जब वह तैरते हुए आ रही थी तो रास्ते में मगरमच्छ बगल से निकल गया। वह थोड़ा सा घबराईं, लेकिन वो अपने रास्ते निकल गया और श्रद्धा अपने|