इस मामले में लड़कों को पछाड़ देंगी लड़कियां

नई दिल्ली(24 सितंबर): भारत जल्द ही शिक्षा के क्षेत्र में एक मील का पत्थर रखने जा रहा है। दरअसल, आने वाले कुछ सालों में यहां 50 प्रतिशत स्टू़डेंट्स लड़कियां होंगी। 

- 2015-16 के उपलब्ध आंकड़ें को देखें तो 30 करोड़ स्टूडेंट्स में 48 प्रतिशत लड़कियां हैं। पिछले कुछ सालों में स्कूलों, कॉलेजों और यूनिवर्सिटी जाने वाली लड़कियों की संख्या में आकस्मिक तेजी आई है। 

- 1950-51 के आंकड़े को देखें तो उस वक्त कुल स्टू़डेंट्स में सिर्फ 25 प्रतिशत ही लड़कियां थीं। जबकि 39 प्रतिशत तक पहुंचने में अगले 40 साल लग गए। इसके बाद 2000-01 में यह आंकड़ा 42 प्रतिशत पहुंचा। 

- माना जाता है कि जब लड़कियां शिक्षा से जुड़ती हैं तो वह लड़कों के मुकाबले अपनी पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देती हैं और कोर्स को पूरा करती हैं। इसलिए लड़कों की अपेक्षा लड़कियों के पास ज्यादा डिग्रियां होती हैं।