लॉंग स्कर्ट पहनकर स्कूल आयी लड़की को प्रिंसिपल ने बैरंग वापस लौटाया

नई दिल्ली (10 मई): कैथोलिक ईसाई से मुसलमान बन चुकी एक लड़की को स्कूल में सिर्फ इसलिए प्रतिबंधित कर दिया क्यों कि वो लॉंग स्कर्ट पहनकर आयी थी। स्कूल की प्रिंसिपल ने कहा कि लड़की का पहनावा धार्मिक सूचक था इसलिए उसे स्कूल में आने से रोका गया अगर वो सामान्य पोशाक में स्कूल आती है तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी।

फ्रांस के अखबार ‘नूवेल ओब्स’ ने लिखा है कि फ्रांस की मुस्लिम महिलाओं के बीच जो लॉंग स्कर्ट प्रचलन में हैं, लेकिन सन् 2004 में फ्रांस में पारित कानून के तहत स्कूल कॉलेजों में  में नकाब, यहूदी-इस्लामी पोशाक और लंबा ईसाई क्रॉस पहनने पर रोक है। स्कूल प्रशासन ने कहा है कि लड़की की पोशाक एक धर्म विशेष के पहनावे का प्रतीक माना जाता है। इसलिए प्रिंसिपल की कार्रवाई उचित है। फ्रांस के ही एक अन्य अखबार ‘द लोकल फ्रांस’  के अनुसार लड़की की मां ने स्कूल प्रशासन से प्रिंसिपल की शिकायत की शिकायत की थी, लेकिन उन्होंने फ्रांस के कानूनों का हवाला देकर कुछ भी करने से इंकार कर दिया। लेकिन स्कूल की इस कार्रवाई के बाद फ्रांस में पहनावे को लेकर एक बार फिर से बहस छिड़ गयी है।